शर्मनाक:पीएम के 4 घंटे बाद मुक्तांजलि नहीं मिलने पर परिजन ऑटो में लेकर गए शव

बैकुंठपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ब्लॉक सोनहत के ग्राम पंचायत नौगोई से चरचा काॅलरी अपने नाना को डयूटी छोड़कर वापस लौट रहे 23 वर्षीय नाती सुरेश टोप्पो की गुरुवार काे सड़क हादसे में मौके पर ही मौत हो गई। जिला अस्पताल में पीएम कराने के बाद शव परिजनो को सौंप दिया गया है। अस्पताल से मुक्तांजलि नहीं मिलने पर परिजन शव काे आटो में रखकर ले गए, जिसने जिला अस्पताल की अव्यवस्था काे उजागर किया है।

पीएम का शव कराने कराने के लिए मौके पर पहुंचे परिजनों ने 108 नंबर पर कई बार कॉल किया, लेकिन नंबर मध्यप्रदेश लग गया। एंबुलेंस की सुविधा नहीं मिलने पर आटो में ही शव काे लेकर परिजन जिला अस्पताल पीएम कराने पहुंचे। यहां पीएम होने के 3-4 घंटे तक शव ले जाने के लिए वाहने की तलाश परिजन करते है। जब शव वाहन नहीं मिला, तो परिवार के सदस्याें ने शव को कपड़े में बांधा और आटो में भरकर 15 किलाेमीटर दूर ब्लाक सोनहत के नवगई के लिए रवाना हुए।

चार घंटे इंतजार के बाद भी नहीं मिला शव वाहन
मृतक के चाचा दिनेश कुमार ने बताया कि सड़क हादसे में भतीजे मौत होने के बाद जिला अस्पताल में पीएम के लिए लेकर आए थे । मगर घर ले जाने के लिए जिला अस्पताल की ओर से शववाहन उपलब्ध कराने की बात कहने के बाद भी नहीं दिया गया। मजबूरी में ऑटो में शव को लेकर जाना पड़ रहा है।
-डा.एसके.गुप्ता, जिला अस्पताल सीएस

खबरें और भी हैं...