वसूली में अफसरों का छूट रहा पसीना:बिल नहीं चुकाया, 200 उपभोक्ताओं का बिजली कनेक्शन काटा

बैकुंठपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सुप्रींटेंडेंट इंजीनियर सर्किल बैकुंठपुर में बिजली विभाग का कुल 90 करोड़ रुपए बिजली बिल उपभोक्ताओं पर बकाया है। सर्किल के मनेंद्रगढ़ व सूरजपुर डिवीजन में बिजली बिल की बकाया राशि को वसूल करने विभाग ने इंजीनियरों व लाइन स्टाफ की टीम गठित की है।

टीम ने पहले दिन टीम ने बकायादार उपभोक्ताओं के कनेक्शन की जांच की और 50 हजार से अधिक बिल होने के बाद भी भुगतान नहीं करने वाले 200 बकायादारों के कनेक्शन काटे। जिले में सरकारी दफ्तरों के अलावा ज्यादातर घरेलू व कमर्शियल कनेक्शनधारी उपभोक्ताओं ने लंबे समय से बिल भुगतान नहीं किया है। सर्किल में कुल बकाया 90 करोड़ रुपए के पार पहुंच गया है। लगातार नोटिस के बाद भी उपभोक्ता बिल भुगतान नहीं कर रहे हैं। विभाग के अफसर भी ऐसे उपभोक्ताओं से परेशान है। यही वजह है कि विभाग अब बड़े बकायादारों की सूची तैयार कर राजस्व वसूली अभियान शुरू किया है। इसमें अलग-अलग टीम गठित कर कनेक्शनों की जांच की जा रही है। बिल भुगतान नहीं करने वालों के कनेक्शन भी काटे जा रहे हैं।

सीएसपीडीसीएल के नवपदस्थ एसई पीएन सिंह ने मनेंद्रगढ़ व सूरजपुर संभाग के सभी सहायक व जूनियर इंजीनियर के साथ डिवीजन इंजीनियर की बैठक बैकुंठपुर कार्यालय में बुलाई। बैठक में एसई ने जिले के सभी अफसरों को बिल का भुगतान नहीं करने वालों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लंबे समय से बिजली बिल का भुगतान नहीं करने वाले व 20 हजार से अधिक बकाया राशि वाले उपभोक्ताओं का आवश्यक रूप से बकाया राशि की वसूली करें। भुगतान नहीं करने वाले उपभोक्ताओं का कनेक्शन तत्काल प्रभाव से काटा जाए।

सुविधा: 20 केंद्र पर फोटो स्पॉट बिलिंग शुरू
बैठक में उपभोक्ताओं को सुविधा प्रदान करने के लिए नए मीटर रीडिंग प्रणाली की वर्तमान स्थिति पर भी चर्चा हुई। एसई ने कहा कि नए फोटो स्पॉट बिलिंग में मीटर रीडर उपभोक्ता के घर-घर जाकर रीडिंग लेते हुए तत्काल बिल प्रिंट कर दे रहे हैं। जिले में 20 वितरण केन्द्रों में फोटो स्पॉट बिलिंग का कार्य प्रारंभ किया जा चुका है।

16 सौ कनेक्शनों पर 17 करोड़ का बकाया
मनेन्द्रगढ़ डिवीजन में 50 हजार से अधिक बकाया राशि वालों में 849 उपभोक्ताओं पर कुल 07.71 करोड़ रुपए व सूरजपुर में 867 उपभोक्ताओं से 7.19 करोड़ रुपए बकाया है। दोनों डिवीजन में करीब 16 सौ से ज्यादा कनेक्शनों पर कुल 17 करोड़ रुपए से अधिक राशि वसूल की जानी है।

खबरें और भी हैं...