पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा:पंडो जनजाति के लोगों का सेटलमेंट के अभाव में नहीं बन रहा जाति प्रमाण-पत्र

अंबिकापुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बलरामपुर जिला में पंडो जनजाति के लोगों को जाति प्रमाण-पत्र नहीं बनने के कारण सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है। इसके पीछे यहां पंडो जनजाति के लोगों के पास सेटलमेंट का कागजात नहीं होना है और इसके कारण इनका जाति प्रमाण-पत्र नहीं बन रहा है।

इस पर सर्व विशेष पिछड़ी जनजाति समाज कल्याण समिति के प्रांतीय अध्यक्ष उदय कुमार पण्डो ने कलेक्टर को आवेदन देकर जाति प्रमाण-पत्र जारी करने की प्रक्रिया को सरल करने मांग की है। उन्होंने कहा है कि हमारे पूर्वज कई पीढ़ियों से इस गांव व जिला में निवास करते आ रहें हैं, इनका सेटलमेंट नहीं है और न ही 1950 के पूर्व का कोई जाति संबंधित कागजात है। इसलिए जिला बलरामपुर निवासरत पण्डो परिवारों का जाति प्रमाण-पत्र नहीं बन रहा है। वर्तमान शैक्षणिक दस्तावेज, राजस्व दस्तावेज, आधार कार्ड, परिचय-पत्र सहित सभी दस्तावेजों में पण्डो जाति अंकित है। इसके बाद भी जाति प्रमाण-पत्र नहीं बन पा रहा है। इससे पण्डो परिवार के बच्चें पढ़ाई-लिखाई नहीं कर पा रहे हैं, जिससे सरकारी नौकरी से भी वंचित हैं, पण्डो जनजाति का जाति प्रमाण-पत्र नहीं बनने के कारण इनके पट्टे का जमीन भी खरीदा जा रहा है मांग किया है कि बलरामपुर के पण्डो जनजाति का जल्द वर्तमान राजस्व दस्तावेजों के आधार पर जाति प्रमाण-पत्र सरलीकरण प्रक्रिया ग्राम पंचायत के प्रस्ताव से जारी किया जाए।

खबरें और भी हैं...