पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हड़बड़ी में डहरिया:परिवर्तन प्रक्रिया, फिर बोले- कांग्रेस में हिलना-डुलना नहीं होता

अंबिकापुर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर मचे सियासी घमासान में खूब लगे थे ये नारे, प्रेस कांफ्रेंस में कहा-

सरगुजा दौरे पर पहुंचे प्रभारी मंत्री शिव कुमार डहरिया ने यह पूछे जाने पर कि छत्तीसगढ़ हिल रहा है या फिर अड़ा हुआ है। उन्होंने कहा कि परिवर्तन प्रक्रिया है। आगे इस पर वे अपनी बात पूरी करते इससे पहले ही इसका मतलब समझ गए और तत्काल कहा कि हिलना-डुलना कांग्रेस सरकार में नहीं होता है और फिर नमस्कार बोल प्रेस वार्ता से निकल गए। मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर मचे सियासी घमासान में ये नारे खूब लगे थे। इस दौरान शिक्षा मंत्री डाॅ. प्रेमसाय सिंह, बीस सूत्रीय कार्यक्रम के वाइस चेयरमेन अजय अग्रवाल, कांग्रेस के लुंड्रा विधायक डाॅ, प्रीतम राम, जिलाध्यक्ष राकेश गुप्ता, महापौर डॉ. अजय तिर्कि, श्याम लाल जायसवाल सहित पार्टी नेता मौजूद थे।

कार्यकर्ताओं से कहा- सबका ध्यान है
प्रभारी मंत्री डहरिया ने कांग्रेस नए राजीव भवन में कार्यकर्ताओं की बैठक ली। इस दौरान कई कार्यकर्ताओं ने कहा कि अपनी ही सरकार उपेक्षित महसूस कर रहे हैं। सरकार में आए तीन साल होने को है, लेकिन एक काम नहीं मिला। सोसाइटी और रेडी टू इट का काम कई जगह भाजपा के लोग ही चला रहे हैं। निर्माण कार्य भी नहीं मिल रहा। ट्रांसफर भी किसी का नहीं कर पाते। मंत्री ने कार्यकर्ताओं को कहा सबका ध्यान है।

कांग्रेस जो वादा करती है उसे पूरा करती है
शहर में टीपी नगर, बस स्टैंड में गोल बाजार जैसे कामों के शुरू नहीं होने के सवाल पर डहरिया ने कहा कि कांग्रेस जो वादा करती है, उसे हर हाल में पूरा करती हैं। हम वही घोषणा करते हैं, जिस पर काम करते हैं। ये काम तो भाजपा शासन के हैं। पंद्रह साल भाजपा सत्ता मेंे रही, लेकिन काम नहीं हुआ। डहरिया ने कहा कि घोषणा-पत्र के अधिकतर वादों पर अमल हुआ और जो बचा है, उसे भी पूरा करेंगे। सरकार भूमिहीन न्याय योजना शुरू की है और इसके तहत ऐसे परिवारों को साल में छह हजार रुपए दिए जाएंगे।

कार्यकताओं की नाराजगी पर बोले- हम सबकी सुनते हैं, भाजपा में प्रजातंत्र नहीं
पत्रकार वार्ता से पहले प्रभारी मंत्री ने राजीव भवन में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की बैठक ली। यहां कार्यकर्ताओं ने काम नहीं मिलने पर नाराजगी प्रकट की। इस पर डहरिया ने कहा कि हम सबकी सुनते हैं और कार्यकर्ताओं को खुलकर बोलने का मौका देते हैं, जबकि भाजपा में प्रजातंत्र जिंदा नहीं हैं। उनके यहां इस तरह से कार्यकर्ता बात रखते हैं तो अनुशासनहीनता माना जाता है। हमारे सभी कार्यकर्ता खुश हैं।

खबरें और भी हैं...