सुविधा / जिला अस्पताल में लगेगी सिटी स्कैन मशीन

X

  • डायलिसिस मशीन के लिए औपचारिकताएं पूरी, प्रक्रिया में 2 माह लगेंगे

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

बैकुंठपुर. लॉकडाउन के बीच जिलेवासियों के लिए अच्छी खबर है। जिलेवासियों की लंबे समय से जिला अस्पताल में सिटी स्कैन इंस्टॉल करने की मांग पूरी हुई। सालभर पहले ही जिला अस्पताल में सिटी स्कैन कक्ष बनकर तैयार है। अब यहां एसईसीएल बैकुंठपुर द्वारा सीएसआर मद से ढाई करोड़ से सिटी स्कैन मशीन इंस्टॉल की जाएगी।  
राज्यमंत्री गुलाब कमरो ने बताया कि इस संबंध में एसईसीएल बिलासपुर मुख्यालय में पत्राचार के अलावा सीएमडी से सीधे मुलाकात कर जिले के लोगों को इलाज में आ रही परेशानी को दूर करने सिटी स्कैन मशीन इंस्टाल करने की मांग की गई थी, जिसे अब पूरा कर दिया गया है। एसईसीएल महाप्रबंधक ने स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय छग शासन को विधायक गुलाब कमरो के पत्र के संदर्भ का हवाला देते हुए पत्र जारी कर जानकारी दी है कि 2.5 करोड़ से 32 स्लाइस सिटी स्कैन मशीन जिला अस्पताल में इंस्टाॅल करने प्रकरण मुख्य कार्यालय बिलासपुर में तैयार कर लिया गया है। इस संबंध में छग स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय से सहमति मिलते ही मशीन जिला अस्पताल में इंस्टॉल करने की प्रक्रिया की जाएगी। सिटी स्कैन मशीन की सुविधा मिलने से जिला अस्पताल में गंभीर दुर्घटना के मरीजों का सटिक इलाज होने के साथ गंभीर बीमारी के इलाज में भी कारगर साबित होगी। 
राज्य से मिलेगी मशीन विभाग ने दिए संकेत
जिला अस्पताल में डायलिसिस के लिए एक अलग वार्ड तैयार किया जाएगा। इसके लिए जरूरी व्यवस्थाएं तैयार की जा रहीं है। इसे लेकर स्वास्थ्य विभाग ने संकेत दिए है कि जल्द ही राज्य सरकार डायलिसिस मशीन जल्द ही भिजवाने वाली है।
बीपीएल व एमरजेंसी में सुविधा मुफ्त मिलेगी
सुविधा शुरू होने से गरीब मरीजों को इसका काफी फायदा होगा। बीपीएल परिवार व एमरजेंसी मरीजों को यह सुविधा फ्री में मिलेगी। वहीं अन्य मरीजों के लिए इसका शुल्क 500 रुपए तक हो सकता है।  
मशीन आने के बाद स्टाफ को देंगे ट्रेनिंग: सीएमएचओ
इधर बता दें कि जिला अस्पताल में अब जल्द ही डायलिसिस की सुविधा शुरू होने वाली है। इससे किडनी रोगियों को डायलिसिस के लिए बिलासपुर, रायपुर जाने से निजात मिल जाएगी। अब तक कोरिया जिले में यह सुविधा नहीं होने से किडनी की बीमारी से पीड़ित मरीजों को मोटी रकम खर्च कर रायपुर, बिलासपुर डायलिसिस के लिए जाना पड़ता है। सीएमएचओ डॉ. रामेश्वर शर्मा ने बताया कि मशीन आने के बाद डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ को ट्रेनिंग के लिए भेजा जाएगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना