सरगुजा में हुई थी कॉन्ट्रैक्ट किलिंग:शादीशुदा गर्लफ्रेंड शादी का दबाव बना रही थी, इसलिए प्रेमी ने दूसरे शख्स को पैसा देकर करवाई हत्या

सरगुजा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले में डेढ़ साल पहले हुई महिला की हत्या का राज खुल गया है। उसकी हत्या किसी और ने नहीं बल्कि उसके ही प्रेमी ने करवाई थी। प्रेमी ने दूसरे शख्स को एख लाख रुपए देकर महिला की हत्या कराई थी। महिला की लाश घर में पड़ी हुई मिली थी। बताया गया कि शादीशुदा महिला उससे शादी करने का दबाव बना रही थी। जिसकी वजह से आरोपी ने इस वारदात को अंजाम दिया।

पुलिस इस मामले में आरोपियों तक महिला के मोबाइल के माध्यम से पहुंच पाई है। रविवार को पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा किया है। जिले की लुंड्रा थाना पुलिस ने आरोपी प्रेमी और हत्या करने वाले दूसरे शख्स को गिरफ्तार कर लिया है।

दरअसल, 01 जून 2020 को पुलिस को सूचना मिली थी कि लुंड्रा के सेमरापारा गांव के क्वार्टर में रहने वाली महिला की लाश मिली है। पुलिस मौके पर पहुंची तो पता चला कि लाश सुषमा पैकरा (30) पति अरुण पैकरा की है। इसके बाद पुलिस ने केस दर्ज जांच शुरू की थी। मगर काफी दिन बीत जाने के बाद भी कुछ पता नहीं चल रहा था।

मौके से नहीं मिला मोबाइल

पुलिस को मौके से उसका मोबाइल भी नहीं मिला था। इसी वजह से पुलिस ने उसके फोन को सर्विलांस पर रखा था और साइबर पुलिस की मदद से जांच में जुटी थी। इस बीच पुलिस को पता चला कि सुषमा का किसी अरुण सिंह नाम के शख्स से प्रेम प्रसंग है। इसके बाद पुलिस अरुण सिंह पर निगरानी रखने लगी और मामले की जांच में जुटी रही।

मोबाइल के जरिए हत्यारे तक पहुंची पुलिस

इधर, साइबर सेल भी मामले की जांच कर रही थी। जिसके माध्यम से यह पता चला कि लुंड्रा का दिनेश भुईहर उस सुषमा का फोन इस्तेमाल कर रहा है। इस पर पुलिस मौके पर पहुंची और उसे हिरासत में ले लिया। हिरासत में लेने के बाद पुलिस ने दिनेश से पूछताछ की। पूछताछ में दिनेश ने जो बताया वह चौंकाने वाला था।

गला दबाकर की थी हत्या

दिनेश ने बताया कि अरुण और सुषमा के बीच अवैध संबंध थे। इसी वजह से सुषमा अरुण से शादी करना चाहती थी। मगर अरुण को यह मंजूर नहीं थी। इसलिए उसने सुषमा को रास्ते से हटाने के लिए उसे 01 लाख रुपए दिए थे। अरुण की शादी नहीं हुई थी। दिनेश ने कहा कि पैसा मिलने के बाद ही उसने 31 मई 2020 को मौके पाकर महिला की गला दबाकर हत्या कर दी थी और भाग निकला था। पुलिस ने दिनेश के बयान के बाद अरुण को भी गिरफ्तार कर लिया है और रविवार को पूरे मामले का खुलासा किया है। पुलिस अधीक्षक ने इस हत्या की गुत्थी सुलझाने में लगी टीम को 5 हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की है।

खबरें और भी हैं...