अंबिकापुर में फंदे पर लटके मिले दंपती:3 दिन से बंद था घर, दरवाजा तोड़ा तो बेडरूम में पति, किचन में थी पत्नी की लाश

अंबिकापुर8 महीने पहले
विवेक गुप्ता और श्वेता गुप्ता- फाइल फोटो

छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में दंपती ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। दोनों के शव शुक्रवार शाम को उनके ही घर में लटके मिले। दंपती 3 दिन से घर से निकले नहीं थे। सूचना पर पुलिस पहुंची और दरवाजा तोड़ा तो उनके खुदकुशी करने का पता चला। पुलिस को मौके से दो अलग-अलग सुसाइड नोट मिले हैं। हालांकि उनमें क्या लिखा है, ये अभी पुलिस बता नहीं रही है।

जानकारी के मुताबिक, कोतवाली क्षेत्र में स्टेट बैंक मेन ब्रांच के पीछे रहने वाले विवेक गुप्ता (46) एक निजी कंपनी में कर्मचारी थे। वह पत्नी श्वेता गुप्ता (42) के साथ मकान के फर्स्ट फ्लोर पर रहते थे। जबकि ग्राउंड फ्लोर पर उनका छोटा भाई अपने परिवार के साथ रहता है। विवेक और श्वेता की शादी को करीब 20 साल हो चुका था, लेकिन उनको कोई बच्चा नहीं था।

मौके पर मामले की जांच करती पुलिस।
मौके पर मामले की जांच करती पुलिस।

पुलिस दरवाजे का लॉक तोड़कर अंदर घुसी
CSP पुष्कर शर्मा ने बताया कि मंगलवार रात से दंपती को किसी ने घर से निकलते नहीं देखा था। आज शाम को जब घर में बदबू आई तो विवेक का छोटा भाई ऊपर देखने के लिए पहुंचा, लेकिन दरवाजा बंद था। उसने काफी देर दरवाजा खटखटाया, लेकिन जब कोई जवाब नहीं मिला तो उसने पुलिस को सूचना दी। इसके बाद स्थानीय लोगों के सामने लॉक तोड़कर पुलिस अंदर घुसी।

दो अलग-अलग सुसाइड नोट मिले
अंदर बेडरूम में विवेक का शव फांसी से लटक रहा था, जबकि उसकी पत्नी का शव किचन में लटका हुआ था। पुलिस ने दोनों के शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए हैं। मौके से दो सुसाइड नोट भी मिले हैं। पुलिस अभी जांच करने की बात कहकर उसमें क्या लिखा है, इस बारे में बता नहीं रही है। हालांकि माना जा रहा है कि संतान नहीं होने के कारण दंपती ने ऐसा कदम उठाया है।

खबरें और भी हैं...