पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जिले में 350 एक्टिव केस:लॉकडाउन में बना जांच नाका हटा, मप्र बॉर्डर से अब बिना रोक-टोक आवाजाही

बैकुंठपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राेज 30 मरीज मिल रहे, लापरवाही भारी न पड़ जाए

कोरिया जिले में मध्यप्रदेश सीमा पर स्थित घुटरीटोला चेकपोस्ट को गुरुवार रात से बंद कर दिया गया है। चेकपोस्ट पर तैनात कर्मियों के सभी सामान प्रशासनिक अधिकारियों को हैंड ओवर कर दिए गए हैं। बता दें कि बॉर्डर पर मप्र और छग से आने वाले लोगों को लेकर कोरोना जांच के लिए चेकपोस्ट बनाया गया था। वहीं यहां से जाने वाली यात्री बसों पर पूरी तरह रोक लगा दी गई थी, सिर्फ प्रशासनिक अनुमति से ही लोग आना जाना कर सकते थे, लेकिन अब चेकपोस्ट हटने के बाद लोग बिना अनुमति मप्र-छग में आ जा सकेंगे।

बता दें कि नेशनल हाईवे 43 पर चेकपोस्ट बंद होने से लोग बिना कोविड निगेटिव रिपोर्ट के जिले में आना जाना कर सकेंगे। इससे अब किसी वाहनों की रोक-टोक नहीं होगी, न ही कोई अंतरराज्यीय बस पर रोक लगाई जाएगी। जल्द ही शासन के आदेश पर इस रूट पर चलने वाली यात्री बसों का संचालन भी शुरू हो जाएगा। इधर कोरोना संक्रमण के केस घटने के बाद प्रशासन ने जिले की सील सीमाओं को भी खोल दिया है। लेकिन, यह लापरवाही कहीं जिले पर भारी न पड़ जाए, क्योंकि जिले में अब भी कोरोना के 350 ही एक्टिव मरीज हैं, वहीं राेज 30 नए मरीज मिल रहे हैं। ऐसे में जरूरी है कि लोग स्वयं सावधानियां बरतें व मास्क का इस्तेमाल करें।

बसों के नहीं चलने से बारिश में परेशानी बढ़ी
बसों के कम चलने के कारण बरसात में लोगों की परेशानी बढ़ गई है। सामान्य दिनों में लोग कम या लंबी दूरी का सफल भी दोपहिया वाहन से कर लेते थे। पर अब बरसात में दोपहिया में सफर करना बेहद मुश्किल है। इसके साथ ही अब सभी सरकारी कार्यालय पूरी तरह से खुलेंगे और 50 प्रतिशत कर्मचारियों की उपस्थिति वाला नियम खत्म हो रहा है।

अंबिकापुर के लिए 3 व बिलासपुर के लिए 1 बस
लॉकडाउन के बाद से फिलहाल सभी बसों का संचालन शुरू नहीं हो पाया है। कई बसें शुरू हो चुकी हैं, लेकिन बसों की संख्या पहले की तुलना में काफी कम हैं। चिरमिरी से अभी अंबिकापुर रूट पर सिर्फ 3 बसें चल रही हैं। बिलासपुर के लिए सिर्फ एक बस रवाना हो रही हैं। ट्रांसपोर्ट एजेंटों ने बताया कि मप्र बस शुरू होने के साथ लोकल बसों का संचालन भी शुरू होगा।

खबरें और भी हैं...