आयुक्त को ज्ञापन सौंपा:गन्ने की फसल को आरक्षित करने से बंद हो जाएंगी गुड़ की फैक्ट्रियां

अंबिकापुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गन्ना फसल को आरक्षित करने से गुड़ उद्योग प्रभावित होने के संबंध में कैट के जिलाध्यक्ष रविंद्र तिवारी ने गन्ना आयुक्त को ज्ञापन सौंपा है। इसमें बताया कि अविभाजित सरगुजा में गन्ना के फसल को आरक्षित किया है, जबकि केरता स्थित मां महामाया सहकारी शक्कर कारखाना में पेराई सत्र के लिए जितनी जरूरत है, उससे बहुत ज्यादा गन्ने का फसल होती है। सिर्फ सूरजपुर जिले में 6968.24 हे. में गन्ने की फसल है।

वहीं बताया कि छोटे व मध्यम किसानों की उपज कम होने के कारण फसल की कीमत से ज्यादा गाड़ी भाड़ा लग जाता है, जबकि केंद्र सरकार व राज्य सरकार ने एमएसएमई को बढ़ावा देने गुड़ की फैक्टरी स्थापित करने अनुदान दिया है। इसके कारण सरगुजा संभाग में कई फैक्टरी स्थापित हुईं। उन्हें अब गन्ने की आपूर्ति नहीं होगी। इससे यह फैक्टरियां बंद हो जाएंगी।

खबरें और भी हैं...