नवरात्र आज से:मंदिरों में प्रज्ज्वलित होंगे ज्योति कलश, नहीं कर सकेंगे दर्शन

अंबिकापुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लॉकडाउन में इस बार फिर श्रद्धा भी लॉक रहेगी, लोगों को घर में ही रहकर शक्ति की उपासना करनी होगी

शक्ति की आराधना का महापर्व चैत्र नवरात्र मंगलवार से शुरू हो रहा है। इस साल भी कोरोना संक्रमण से लॉकडाउन के कारण मंदिरों में श्रद्धालुओं का प्रवेश वर्जित है। इन सब के बीच श्रद्धालुओं की आस्था से शक्ति पीठ जगमगा रहे हैं। यह तस्वीर शहर के गांधी चौक स्थित दुर्गा मंदिर की है।

यहां नवरात्र को लेकर मंदिर की सजावट झालरों से की गई जिसकी सुंदरता रात में देखते ही बन रही है। इसी प्रकार शहर के अन्य मंदिरों में नवरात्र की पूजा की तैयारियां की गई। पूजा मंदिर के पुजारी ही करेंगे। श्रद्धालु घर से ही अनुष्ठान कर ही माता की आराधना करेंगे।

मनोकामना ज्योति कलश की मंदिर प्रबंधन ने पूरी की तैयारियां
शक्तिपीठों में हर साल श्रद्धालुओं द्वारा मनोकामना प्रज्ज्वलित कराए कराए जाते हैं। इस साल भी इसके लिए इसकी तैयारियां हैं और श्रद्धालुओं के सहयोग से महामाया मंदिर, दुर्गा मंदिर सहित अन्य शक्ति पीठों में मंगलवार को पूजा अर्चना के बाद सैकड़ों की संख्या में मनोकामना ज्योतिकलश जलाए जाएंगे, लेकिन अपने ज्योतिकलश का दर्शन श्रद्धालु शक्तिपीठ जाकर नहीं कर पाएंगे।

चैत्र नवरात्र में कर सकेंगे मां कुदरगढ़ी के दर्शन सोशल साइटों पर लाइव दिखाई जा रही आरती

कोरोना महामारी के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए कलेक्टर रणबीर शर्मा ने चैत्र नवरात्र पर लगने वाले कुदरगढ़ धाम के प्रसिद्ध मेले को बंद करने का निर्णय लिया है, जिस पर श्रद्धालुओं से अपील भी की गई है कि वे घर पर रहकर ही पूजा-पाठ करें, जिससे कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से नियंत्रित किया जा सके। आमजनों के द्वारा भी इस अपील पर अमल करते हुए घर पर ही रहना उचित समझा है और मेले परिसर पर श्रद्धालु नहीं आ रहे हैं। कलेक्टर रणबीर शर्मा ने श्रद्धालुओं की श्रद्धा और कुदरगढ़ धाम की प्रसिद्धि को देखते हुए पहल कर ऑनलाइन माध्यम से चैत्र नवरात्र में लाइव आरती दिखाने का प्रबंध किया है। आरती ऑनलाइन सोशल साइट इंस्टाग्राम, फेसबुक, ट्विटर पर शेयर किए गए लिंक के माध्यम से दिखाई जा रही है और माता के दर्शन करने का अवसर दिया गया है।

खबरें और भी हैं...