पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गड़बड़ी की जांच:जेल की भूमि पर बनी एमएलए काॅलोनी में फेस 1 व 2 की माप, बिना मंजूरी निर्माण करने वालों मंे दहशत

बैकुंठपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जमीन बिक्री में फर्जीवाड़ा के मामलों की फाइलें पुलिस, राजस्व व नपा प्रशासन खोल रहे

8 एकड़ 27 डिसमिल में बने एमएलए नगर की जमीन की प्रशासन ने माप का काम शुरू कर दिया है। इधर बिल्डर संजय अग्रवाल जेल में बंद हैं। जमीन फर्जीवाड़े के कई मामलों की फाइल एक-एक कर पुलिस, राजस्व अाैर नपा प्रशासन खोल रही है। नपा व राजस्व विभाग की संयुक्त टीम ने शनिवार को एमएलए नगर के दो फेस में बने 250 से अधिक मकानाें को घेरते हुए 8 प्लॉट पर चौहद्दी माॅर्किंग की है। सीमांकन से काॅलोनी में मकान लेकर रहने वालों में इस बात से हड़कंप है कि आगे क्या होगा। जानकारी के अनुसार 8 प्लॉट की जमीन पर 8 एकड़ 27 डिसमिल में बसाई गई आवासीय काॅलोनी एमएलए नगर में 253 मकान बनकर तैयार हैं। वहीं 10 से अधिक मकान निर्माणाधीन हैं। इनमें 50 फीसदी से अधिक मकानों की बिक्री हो चुकी है, जबकि बचे मकान किराए पर दिए गए हैं। प्रशासन ने जामपारा और बैकुंठपुर नपा क्षेत्र में बसाई गई फेस-1, फेस-2 कॉलोनी की जांच शुरू कर दी गई है। एकाएक नपा प्रशासन द्वारा शुरू हुई जांच से एमएलए नगर के रहवासी दहशत में हैं, क्योंकि इससे पहले पालिका एमएलए नगर में निर्माणाधीन मैरिज हॉल को अवैध घोषित कर भवन को धरासाई कर चुकी है। कॉलोनी में नपा सीएमओ की नेतृत्व में आरआई, पटवारी निगम के इंजीनियर, राजस्व कर्मचारियों की टीम पहुंचने के बाद यहां के लोगों में इसका डर साफ नजर आने लगा है। पालिका के अफसरों की माने तो फेस 1 और फेस 2 दोनों में कॉलोनी बसाने में कई की स्वीकृति नहीं दी गई है। फिलहाल नपा के अफसर साफ-साफ बातें स्पष्ट नहीं कर रहे हैं। जांच के बाद जानकारी दिये जाने की बात कही जा रही है। वार्ड के सिटिंग पार्षद टीम के साथ लोगों को समझा रहे हैं।

20 फीसदी से अधिक जमीन पर अवैध कब्जा
नगर पालिका के शुरुआती दौर में यह बात सामने आई है कि यहां आधे से अधिक हिस्से में बनाई गई कॉलोनी अवैध है। जिसकी जांच शुरू कर दी गई है। सबसे बड़ी हैरानी की बात तो यह है कि कॉलोनी का 20 फीसदी से अधिक हिस्सा जिला जेल की जमीन पर कब्जा कर बना है। माप के दौरान यहां आरआई व पटवारी ने इस पर चिंता जताते हुए फेस 2 में बने गॉर्डन तक का हिस्सा जेल का बताया है।

जांच के बाद ही पूरी स्थिति स्पष्ट हो सकेगी
प्रशासनिक अफसर बता रहे हैं कि टीम माप कर यह देख रही है कि पहले अनुमति में नक्शे के अनुसार कॉलोनी का निर्माण हुआ है या नहीं। नक्शे को साथ लिये अधिकारी निर्मित कॉलोनी व आवासों का मिलान कर रहे हैं। कॉलोनी में पानी टंकी, ड्रेनेज, गार्डन, सड़क के साथ नगर पालिका को दी जाने वाली जमीन का भी पता लगाया जा रहा है। इसमें जेल की जमीन कितनी है, और निजी कितनी है, यह भी जांच की जा रही है।

नियमानुसार कार्रवाई व पेनाल्टी करेंगे : सीएमओ
नगर पालिका सीएमओ ज्योत्सना टोप्पो का कहना है कि माप में पहले यह तय किया जा रहा है कि कितनी भूमि पर कॉलोनी बसाई गई है। इसमें अनुमति कितने मकानों और क्षेत्र की ली गई थी और निर्माण कितने में हुआ है। इसके आधार पर पेनाल्टी तय की जाएगी। यदि सरकारी जमीन पर अतिक्रमण होगा तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। लोगों को परेशान होने की जरूरत नहीं है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें