पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वर्चुअल जनसुनवाई:वीडियो कांफ्रेंसिंग वैन से मंत्री भगत ने जनता से की चर्चा, लोग बोले- नहीं मिल रहा बारदाना

अंबिकापुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • हैंडपंप, सड़क निर्माण और पट्टा दिलाने की ग्रामीणों ने मांग की

खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री अमरजीत भगत मोबाइल वैन के जरिये लोगो से ऑनलाइन जुड़कर उनकी समस्याओं से अवगत होकर निराकरण के निर्देश अधिकारियों को दे रहे है। गुरुवार को अंबिकापुर विकासखंड के ग्राम पंचायत बड़ा दमाली बाजार में मोबाइल वैन पहुंची। भगत तकनीक के इस्तेमाल से भौतिक उपस्थिति के अंतर को पाटने की कोशिश कर रहे हैं। इस सिलसिले में बाजार आये लोगों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से बात की। इस दौरान एक-एक करके उपस्थित लोगों ने अपनी बातें व समस्याएं मंत्री भगत से साझा की। बातचीत से पता चला कि क्षेत्रवासियों की मुख्य समस्या हैंडपंप, सड़क निर्माण एवं पट्टा नहीं मिलना है। जिसके तत्काल निराकरण के लिये उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया। लोगों ने बताया कि बड़ा दमाली में पशु चिकित्सालय न होने से पशुधन के रख-रखाव और उपचार में दिक्कत हो रही है। इस मांग को गंभीरता से लेते हुए निराकरण की पहल की। भगत ने यहाँ जल्द से जल्द पशु चिकित्सालय खुलवाने की घोषणा की। बड़ा दमाली में लोगों ने बताया कि बारदाने की कमी से धान-खरीदी प्रभावित हो रही है। मंत्री अमरजीत भगत ने बताया कि छत्तीसगढ़ सरकार ने व्यवस्था कर ली है, किसानों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। जल्द ही इस समस्या का निवारण कर दिया जाएगा। कुछ लोगों को यहां राशन कार्ड बनने में समस्या आ रही है जिसके निराकरण के लिए उन्होंने संबंधित अधिकारी से दूरभाष पर निराकरण के निर्देश दिए। बड़ा दमाली के कई निवासियों की भूमि डुबान क्षेत्र में है, इस वजह से उन्होंने पुनर्वास सहयोग का आग्रह किया। इसके लिए मंत्री भगत ने पुनः सर्वे करा कर पुनर्वास व मुआवजा दिलवाने आश्वस्त किया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें