पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

झुमका डैम में हादसा:पैडल बोट डैम में फंसी आसपास के लोगों ने परिवार को बचाया

बैकुंठपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बोट पर एक तरफ वजन अधिक हुआ तो बैलेंस बिगड़ने पर पलटी

जिला मुख्यालय के झुमका बोट क्लब में रविवार शाम एक पैडल बोट के पलट जाने से एक परिवार मुश्किल में फंस गया। हालांकि परिवार को आसपास के लोगों ने बचा लिया। हादसे के बाद यहां हंगामा शुरू हो गया, परिवार ने बोट क्लब पर गुस्सा जाहिर किया। दरअसल बोट क्लब में बिना सुरक्षा के इसे खोल दिया गया है।

खासतौर पर रविवार के दिन यहां भीड़ बढ़ रही है। रविवार शाम बैकुंठपुर का एक परिवार यहां बोटिंग करने पहुंचा हुआ था। पेडल बोट में सवार होकर सभी डैम के बीच में चले गए थे लेकिन यहां पेडल बोट फंस गई, पैडल काम नहीं कर रहा था। इसके बाद परिवार ने चिल्लाकर बोट क्लब से संचालकों को आवाज दी जिस पर उन्हें बड़े बोट से खींच कर किनारे तक लाया जा रहा था लेकिन किनारे तक पहुंचते ही पेडल बोट पलट गई। इसकी वजह बताई जा रही है बोट पर एक तरफ वजन अधिक होने के साथ ही बड़े बोट से खिंचाव होने पर उसका बैलेंस बिगड़ गया जिस वजह से बोट पलट गई। बताया जा रहा है कि पैडल बोट पर चार सदस्य सवार थे। जिन्हें आसपास के लोगों ने सुरक्षित बाहर निकाल लिया है। घटना की सूचना एनडीआरएफ की टीम को नहीं दी गई थी। सूचना मिलने पर जिला पंचायत सीईओ कुणाल दुदावत मौके पर पहुँचे।

पहले भी दो बोट डूब चुकी हैं तीन बाेट में दाे बाेट खराब
बता दें कि झुमका बोट क्लब में तीन स्पीड बाेट में दाे बाेट खराब पड़ीं हैं। बची हुई एक बोट भी आय दिन बिगड़ती रहती है। दो पैडल बोट में छेद हो चुका है। वहीं एक बोट संचालन समिति लॉकडाउन से पहले ही डैम में डूबो चुकी है। इससे झुमका बोट क्लब में बोटिंग की समुचित सुविधा नहीं मिल पा रही है।

बोट में एक तरफ वजन होने के कारण पलटती है
जिला आपदा प्रबंधन के अधिकारी शेखर बोरवणकर ने बताया कि पैडल बोट में एक तरफ वजन होने के कारण अक्सर बोट पलटने की घटनाएं सामने आते हैं ऐसे में जरूरी है की बोट पर बैलेंस के लिए क्षमता से अधिक सवार न हों, और दोनों ओर वजन बराबर रहे। उन्होंने बताया कि एनडीआरएफ को सूचना नहीं दी गई है।

खबरें और भी हैं...