पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना केस 10000:लोग सोशल डिस्टेंस और सतर्कता भूल रहे, सावधानी नहीं बरती तो ऐसे ही बढ़ेंगे, 6% की दर से मिल रहे मरीज

अंबिकापुर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
यह तस्वीर चौपाटी की रात साढ़े 8 बजे की है। - Dainik Bhaskar
यह तस्वीर चौपाटी की रात साढ़े 8 बजे की है।
  • सरगुजा में कोरोना के पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 10 हजार के पार, दूसरी लहर में तेजी से फैल रहा संक्रमण, पांच दिन में ही 640 नए मरीज मिले, 4 मौतें भी हुईं

जनवरी के शुरू में कोरोना के पहली लहर नरम पड़ने लगी थी। तब सरगुजा जिले में संक्रमितों की संख्या 7 हजार से कम थी और किसी ने यह उम्मीद नहीं की थी कि इस बीमारी का इस तरह दोबारा पलटवार होगा। लोग बेपरवाह होने लगे। मास्क व सोशल डिस्टेंस भूल गए और इसका नतीजा सामने है।

नए मरीजों की संख्या में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई और 11 महीने के बाद मंगलवार को जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या 10 हजार के पार हो गई। सिर्फ पांच दिनों के भीतर ही 11484 लोगों की जांच हुई और रिकार्ड 640 नए मरीज मिले हैं। इस दौरान पांच लोगों की जान भी गई। यह आंकड़ा अब कब थमेगा इसका किसी को पता नहीं है। अब तो इस बीमारी का संक्रमण जिले में बेकाबू होने लगा है। करीब साढ़े 5 फीसदी की दर से नए मरीज मिल रहे हैं।

यानी हर सौ लोगों में 5 से अधिक कोरोना के मरीज हैं। इससे एक्टिव केस की संख्या में रोज इजाफा हो रहा है। एक बार फिर जिले में कोरोना के एक्टिव केस की संख्या 824 पहुंच गई है। इन ग्यारह महीनों में हमने 105 लोगों को भी कोरोना से खो है। ये आंकड़े अब डरा रहे हैं। हालांकि राहत की बात यह है कि इस दौरान इलाज के बाद 9020 लोग स्वस्थ्य होकर घर लौटे हैं। इन सब के बाद भी इस बीमारी से बचने सावधानी ही एक मात्र इलाज है।

  • 9020 मरीज इलाज के बाद हो चुके हैं स्वस्थ्य
  • 824 कोरोना के एक्टिव केस हैं अभी सरगुजा जिले में
  • 105 लोगों की कोरोना से अब तक जा चुकी है जान
  • 50 वर्ष से कम उम्र वाले हैं आधे से अधिक संक्रमित

17 मई को जिले में मिला था कोरोना का पहला केस, एक किमी बनाया था कंटेनमेंट जोन
कोरोना को रोकने मार्च में लॉकडाउन लगा था और सरगुजा जिले में इसका पहला केस 17 मई को सामने आया था। रसूलपुर इलाके में एक महिला पहली कोरोना मरीज मिली थी। तब एक किलोमीटर का एरिया कंटेनमेंट जोन बन गया था। इसके बाद तो कोरोना के केस बढ़ते गए और आंकड़ों में इजाफा होते रहा।

संक्रमितों में 50 वर्ष से कम उम्र वाले 60 फीसदी से अधिक लोग हैं शामिल
कोरोना से जिले में 10 हजार से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं लेकिन इसमें 50 से कम उम्र वालों की संख्या 60 फीसदी से ज्यादा है। जानकारों के अनुसार इस उम्र के लोगों की संख्या इसलिए ज्यादा है क्योंकि ये लोग ही घरों से ज्यादा बाहर रहते हैं। संक्रमितों में 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों की संख्या कम है।

रात 8 बजे से कर्फ्यू, लेकिन इसके बाद तक खुला रहता है बाजार
प्रशासन द्वारा कोरोना को देखते हुए रात आठ बजे से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू लगा दिया गया है। यानी दुकानें इससे पहले बंद हो जानी चाहिए लेकिन बाजार इसके बाद बंद हो रहे हैं। चौपाटी में ही अाठ बजे तक ठेलों के सामने लोगों की भीड़ लगी रहती है। यहां का नजारा देखकर यह नहीं लगता है कि कोरोना नाम की कोई बीमारी है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज का दिन मित्रों तथा परिवार के साथ मौज मस्ती में व्यतीत होगा। साथ ही लाभदायक संपर्क भी स्थापित होंगे। घर के नवीनीकरण संबंधी योजनाएं भी बनेंगी। आप पूरे मनोयोग द्वारा घर के सभी सदस्यों की जरूर...

    और पढ़ें