पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अपराधियों को संरक्षण:रेत चोरी में लगे 22 ट्रैक्टर को पुलिस ने पकड़ा तो पूर्व मंत्री राजवाडे़ छुड़वाने पहुंच गए खनिज विभाग

बैकुंठपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एनजीटी के गाइडलाइन के अनुसार बारिश के सीजन में 15 अक्टूबर तक नदी-नालों से रेत के खनन और परिवहन पर रोक लगाई गई है। वहीं जिला प्रशासन ने भी बारिश से पहले इस तरह का निर्देश जारी किया था। बावजूद इसके जिले के ग्रामीण क्षेत्रों अवैध रेत का खनन और परिवहन धड़ल्ले से किया जा रहा है। इसे रोकने संसदीय सचिव अंबिका सिंहदेव के निर्देश पर 22 ट्रैक्टर के खिलाफ खनिज अधिकारी ने कार्रवाई करते हुए वाहनों को जब्त कर थाना में खड़ा करा दिया। अवैध रेत खनन व परिवहन के मामले को लेकर पूर्व मंत्री भइया लाल राजवाड़े ने खनिज विभाग कार्यालय के बाहर मंगलवार को धरना देकर जब्त गाड़ियों को छोड़ने की मांग की। इस दौरान पूर्व मंत्री राजवाड़े ने कहा कि खनिज विभाग द्वारा ट्रैक्टर मालिकों को परेशान किया जा रहा है। प्रशासन और शासन चुप्पी साधे हुए है, इन्हें लोगों के परेशानियों का जरा भी अंदाजा नहीं है। पिछले 10 दिन से गाड़ियों को जब्त कर थानों में रखा गया है। इससे खड़गवां, बैकुंठपुर, सोनहत, नागपुर क्षेत्र के गाड़ी मालिक दिक्कत में हैं। प्रधानमंत्री आवास को पूरा करना है, रेत निकालने नहीं दे रहे है तो काम पूरा कैसे होगा। पूर्व कैबिनेट मंत्री ने कलेक्टर से मुलाकात कर रेत ढुलाई में ट्रैक्टर पकड़ने संबंधी विषयों पर चर्चा की।

15 तक क्यों लगाई गई रोक
मामले में संसदीय सचिव अंबिका सिंहदेव ने कहा कि एनजीटी व जिला प्रशासन के सख्त निर्देश के बाद भी नदी-नालों से रेत का अवैध खनन व परिवहन किया जा रहा है। इससे पंचायतों की रॉयल्टी नुकसान होने के साथ ही ट्रैक्टर चालक व मजदूरों की जान को खतरा रहता है। इसलिए 15 अक्टूबर तक अवैध खनन परिवहन पर रोक लगाई जाती है।

खबरें और भी हैं...