पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कलेक्टर से मुलाकात:जनप्रतिनिधि बोले- कोरोना को रोकने 14 दिन का लॉकडाउन ही विकल्प

अंबिकापुर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोविड अस्पताल में मरीजों को हो रही परेशानियों को दूर करने कहा, नगर निगम आयुक्त को बनाया नोडल अधिकारी

जिले में बढ़ रही कोरोना की रफ्तार रोकने का अब एकमात्र माध्यम लॉकडाउन ही है। प्रशासन को जिले में 14 दिन का लॉकडाउन लगाना चाहिए। इसके लिए भाजपा और कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल महापौर डॉ. अजय तिर्की के नेतृत्व में कलेक्टर से मिलने पहुंचा। वहीं कलेक्टर ने वैक्सीनेशन का हवाला देते हुए तत्काल में लॉकडाउन लगाने से मना कर दिया है।

इस दौरान कोविड अस्पताल में व्याप्त खामियों को दूर करने पर भी चर्चा हुई। बैठक में निर्णय लिया गया कि कोविड अस्पताल में नोडल अधिकारी का नंबर चस्पा किया जाएगा। ताकि किसी मरीज को कोई भी परेशानी होने पर वह संपर्क कर सकें। जिले में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। पिछले एक हफ्ते से पॉजिटिव केस की संख्या में जबरदस्त इजाफा हुआ है। वहीं दो दिनों से हर रोज 200 से अधिक केस सामने आ रहे हैं। ऐसे में प्रशासन हर रोज नए नियमों के माध्यम से सख्ती बरतता जा रहा है।

इसी क्रम में महामारी की गंभीरता को देखते हुए भाजपा और कांग्रेस के प्रतिनिधि मंडल ने कलेक्टर से मुलाकात की। महापौर डॉ. अजय तिर्की के नेतृत्व में पहुंचे प्रतिनिधिमंडल में भाजपा के पूर्व मेयर प्रबोध मिंज, बालकृष्ण पाठक, शफी अहमद, कांग्रेस जिलाध्यक्ष राकेश गुप्ता, पूर्व विधायक रामदेव राम, पार्षद आलोक दुबे, मेराज अंसारी आदि शामिल रहे। इस दौरान सभी नेताओं ने एकसुर में प्रशासन ने मांग की कि जिले में 14 दिनों का लॉकडाउन लगाया जाए। लॉकडाउन लगाने के बाद ही कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सकेगा। हालांकि, प्रशासन ने इसके लिए अभी इंकार कर दिया है और बताया कि लॉकडाउन लगाने के बाद लोग वैक्सीनेशन का बहाना बनाकर बाहर निकलेंगे और लॉकडाउन के आदेश का मजाक बन जाएगा। वहीं प्रशासन की ओर से बताया कि आगे की स्थितियों को देखते हुए लॉकडाउन के संदर्भ में निर्णय लिया जाएगा।

कोविड अस्पताल की अव्यवस्थाओं पर चिंता
कलेक्टर से मीटिंग के दौरान नेताओं ने बताया कि कोविड अस्पताल में भर्ती मरीजों को देखने के लिए डॉक्टर नहीं पहुंच रहे हैं। इस समस्या को कलेक्टर ने गंभीरता से लेते हुए बताया कि नगर निगम आयुक्त को नोडल अधिकारी बनाया गया है। कोविड अस्पताल में नोडल अधिकारियों के नंबर चस्पा किए जाएंगे।

मरीजों के लिए अतिरिक्त व्यवस्थाएं करने के निर्देश
जनप्रतिनिधियों ने बताया कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रशासन की ओर से प्रबंध किए जा रहे हैं। मरीजों को भर्ती करने के लिए पॉलिटेक्निक कॉलेज को ले लिया गया है। इसके साथ ही निजी अस्पतालों और होटलों में भी मरीजों को रखने की व्यवस्था की जाएगी।

लॉकडाउन के लिए प्रशासन नहीं तैयार
पार्षद आलोक दुबे ने बताया कि लॉकडाउन के लिए प्रशासन तैयार नहीं दिख रहा है। जबकि, कोरोना की रफ्तार रोकने के लिए सिर्फ और सिर्फ लॉकडाउन ही एकमात्र माध्यम बचा हुआ है। प्रशासन वेक्सीनेशन की बात कहकर लॉकडाउन लगाने से बच रहा है। जबकि सभी पार्टियों के जनप्रतिनिधि एकमत होकर 14 दिनों के लॉकडाउन के पक्ष में हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कहीं इन्वेस्टमेंट करने के लिए समय उत्तम है, लेकिन किसी अनुभवी व्यक्ति का मार्गदर्शन अवश्य लें। धार्मिक तथा आध्यात्मिक गतिविधियों में भी आपका विशेष योगदान रहेगा। किसी नजदीकी संबंधी द्वारा शुभ ...

    और पढ़ें