पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

केंद्रीय राज्य मंत्री का मुख्यमंत्री को पत्र:पाकिस्तान और बांग्लादेश के शरणार्थी आदिवासी बेटियों को बरगला जमीन हथिया रहे, धर्म भी बदलवा रहे: रेणुका

अंबिकापुर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर जांच कर कठोर कार्रवाई करने को कहा

केंद्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह ने आरोप लगाया है कि बांग्लादेश और पाकिस्तान से अवैध शरणार्थी छत्तीसगढ़ में आदिवासी बेटियों को बरगला कर जमीन हथिया रहे और धर्मांतरण भी करा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि इन शरणार्थियों का छत्तीसगढ़ में रहना गंभीर हैं। रेणुका ने मामले में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखकर कहा है कि इसकी जांच कराकर इस पर रोक लगाने की जरूरत है। रेणुका ने पत्र में आगे कहा है कि कुछ इसाई धर्म प्रचारकों और संस्थाओं द्वारा भोले-भाले जनजातियों को प्रलोभन देकर धर्मान्तरण किया जा रहा है, जो जन सामान्य को उद्वेलित कर रहा है। इन संस्थाओं को विदेशी सहायता मिल रही है।

ये मुद्दे प्रदेश के लोगों के वर्तमान व भविष्य के लिए गंंभीर हैं। कुछ तत्व जो महज वोट बैंक के नजरिए से इन घटनाओं को नजरअंदाज कर उत्साहित कर रहे हैं और प्रदेश व समाज का वातावरण खराब कर रहे हैं। उन्हें जनहित में और प्रदेश व देश के व्यापक हित में चिह्नित कर दंडित करने की जरूरत है। रेणुका ने शहर के महामाया पहाड़ पर अतिक्रमण को लेकर पार्षद आलोक दुबे की शिकायत का हवाला देते हुए कहा है कि अनुसूचित जनजाति और अन्य परंपरागत वन निवासियों को (वन अधिकारों की मान्यता) अधिनियम 2006 के तहत प्राप्त वन अधिकारों के गंभीर संरक्षण व क्रियान्वयन की जरूरत है।

कतिपय व्यक्तियों द्वारा वन अधिकार पट्टों के खरीद फरोख्त की कोशिश की जा रही है, जबकि वन इस तरह की जमीन की खरीद बिक्री नहीं की जा सकती है। सुधीर राज और शंकर टोप्पो के मध्य वनभूमि स्वामित्व के हस्तांतरण का मामला सामने आया है। यह सिर्फ एक मामला है, जबकि इस प्रकार के कई प्रकरण की सूचना मिल रही है। रेणुका ने महामाया पहाड़ पर किए जा रहे अतिक्रमण की जांच कराकर दोषियों को दंडित करने को कहा है।

खबरें और भी हैं...