पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हादसा:टैंकर ने साइकिल सवार बालक को कुचला मौके पर मौत, 8 घंटे बाद कपड़ों से पहचाना

अंबिकापुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • निमार्णाधीन बिलासपुर नेशनल हाईवे पर शहर के बंजारी के पास सुबह की घटना

निर्माणाधीन जर्जर बिलासपुर एनएच में शहर के बंजारी के पास गुरुवार की सुबह साइकिल में जा रहे एक बालक को सामने से आ रहे तेज रफ्तार टैंकर ने चपेट में ले लिया। टक्कर से बालक सड़क पर गिरा तो उसका सिर चक्के से कुचल गया और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। ड्राइवर कुछ आगे जाकर टैंकर क्रमांक सीजी 07सीबी-0226 को छोड़कर फरार हो गया। कुचलने से चेहरा ऐसा वीभत्स हो गया था कि बालक पहचान नहीं हो पा रही थी। तब तक पुलिस भी पहुंच गई थी। वहां जुटी भीड़ ने बालक की पहचान करने की कोशिश की लेकिन सफलता नहीं मिल पाई। पुलिस ने आनन-फानन में शव को किसी तरह उठाकर मेडिकल काॅलेज अस्पताल की मरच्यूरी में रखवाया, लेकिन अब उसके सामने उसके पहचान कराने की एक बड़ी चुनौति थी। करीब 8 घंटे बाद शाम को शहर के मठपारा इलाके से एक परिवार पहुंचा और उसने कपड़े से मृत बालक की पहचान अपने 10 वर्षीय सूरज के रूप में की गई।

अंबिकापुर से लखनपुर के बीच सड़क की ज्यादा खराब है स्थिति
सड़क का निर्माण पैच में चल रहा है। आधे से ज्यादा सड़क बन गई है। अंबिकापुर से लखनपुर के बीच कई जगह अभी निर्माण पूरा नहीं हो पाया है। इसी हिस्से में अंबिकापुर से सांड़बार तक सड़क पूरी तरह उखड़ गई है। बीच-बीच में बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। इससे धूल का गुब्बार भी पूरे दिन उड़ते रहता है। इसके बाद भी निर्माण एजेंसी द्वारा सड़क मेंटेन करने के लिए कुछ नहीं किया जा रहा।

पखवाड़े भर के भीतर इसी सड़क पर 200 मीटर की दूरी में दूसरी मौत
निर्माणाधीन बिलासपुर एनएच में शहर के पास पखवाड़ेभर के भीतर यह दूसरी सड़क दुर्घटना है। 6 अक्टूबर को पितांबर पेट्रोल पंप के पास मोपेड सवार ग्रामीणों को ट्रक ने टक्कर मार दी थी। हादसे में एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई थी जबकि दूसरे सवार को चोंटें आई थी। दोनों घटना स्थल के बीच लगभग 200 मीटर की दूरी है। इसमें गड्ढे के कारण मोपेड के अंनियंत्रित होकर ट्रक की चपेट में आने की बात सामने आई थी।

पिता की मौत के बाद मां चली गई थी, नानी के साथ रहता था सूरज
पुलिस ने बताया कि सूरज लकड़ा के पिता की मौत कुछ साल पहले हो गई थी। इसके बाद उसकी मां घर छोड़कर कहीं चली गई। इससे सूरज को उसके नाना-नानी अपने यहां रखते थे। वह गुरुवार की सुबह साइकिल में बिलासपुर चौक से बंजारी तरफ जा रहा था। उसके साथ दूसरी साइकिल में एक और बालक के होने की बात आ रही है। दोनों पेट्रोल पंप से कुछ पहले ही थे कि यह हादसा हो गया। इससे डरकर उसका साथी वहां से चला गया।

2017 में शुरू हुआ था निर्माण, अब तक है अधूरा
बिलासपुर एनएच का निर्माण 2017 में शुरू हुआ था। अंबिकापुर से कोरबा की सीमा तक करीब 52 किमी तक अंबिकापुर एनएच की देखरेख में सड़क का काम चल रहा है। 223 करोड़ की लागत से बनने वाली इस सड़क का काम जून 2019 में ही पूरा होना था लेकिन इसका समय बढ़ाकर जून 2020 कर दिया गया। इसके बाद भी इसका काम अधूरा है। इस सड़क में 107 पुल-पुलिया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। इस समय ग्रह स्थितियां आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही हैं। आपको अपनी प्रतिभा व योग्यता को साबित करने का अवसर ...

और पढ़ें