सुरक्षा में लापरवाही:पत्तों के ढेर में लगी आग स्क्रैप यार्ड तक पहुंची एसईसीएल काॅलोनी में रहा दहशत का माहौल

बैकुंठपुर/चरचा9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चरचा आरओ में आग से सुरक्षा की पोल खुली, 10 टैंकर पानी खर्च, ढाई घंटे में पा सके काबू, अफसरों ने कहा- सिर्फ कचरा जला

चरचा आरओ के स्क्रैप यार्ड में रविवार सुबह भीषण आग लग गई। करीब ढाई घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। आग से यहां रखा वेस्ट मटेरियल स्क्रैप, कचड़ा जल गया। एसईसीएल प्रबंधन की माने तो आग से कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ है, यहां मशीनों के कलपुर्जे थे, जो जल गए। हालांकि इस आग ने सुरक्षा व्यवस्था की पोल जरूर खोल दी है। घटना रविवार सुबह 6 बजे की है। बताया जा रहा है कि सब एरिया ऑफिस के सामने खुले स्क्रैप यार्ड के आसपास महुआ के कई पेड़ हैं, जहां संभवत: ग्रामीण महुआ बिनने के चक्कर में पत्तों में आग लगाए होंगे। पत्तों के ढेर में लगी आग से यार्ड में रखी पुरानी पाइप, रबड़ की कन्वेयर बेल्ट जलने लगी, आग स्क्रैप तक पहुंच गई। आग बढ़ने पर एसईसीएल काॅलोनी में अफरा-तफरी का माहौल बन गया। आग की लपटें काफी ऊंचाई तक उठ रहीं थीं। सूचना पर चरचा आरओ के सहक्षेत्र प्रबंधक के.मेरे व माइनिंग मैनेजर बी श्रीनिवास घटना स्थल पर पहुंचे। एसईसीएल ने स्थानीय स्तर पर आग बुझाने का प्रयास किया। वहीं खान बचाओ केंद्र बैकुंठपुर व होमगार्ड फायर ब्रिगेड टीम को सूचना दी गई। करीब साढ़े 6 बजे एक के बाद चार फायर ब्रिगेड घटना स्थल पर पहुंचीं, और आग बुझाने का प्रयास करती रहीं, लेकिन यहां रखा सब कुछ जल गया। सुरक्षा में बड़ी चूक यह हुई है कि स्क्रैप यार्ड में फेंसिंग नहीं थी, यहां कोई भी आ जा रहा था। यार्ड से 20 मीटर दूर सुरक्षा विभाग का कार्यालय व सीआईएसएफ का कैंप है, फिर भी समय रहते आग की खबर नहीं लगी।

नगर पालिका की फायर ब्रिगेड खराब खड़ी
एसईसीएल ने घटना स्थल से चंद दूरी पर नगर पालिका कार्यालय परिसर में खड़े फायर ब्रिगेड वाहन को सूचना दी, लेकिन फायर ब्रिगेड खराब होने की जानकारी मिली। इसके बाद होम गार्ड कार्यालय में सूचना दी गई। तब तक प्लास्टिक और रबड़ के कारण आग ने विकराल रूप ले लिया।

खबरें और भी हैं...