शर्मनाक घटना:प्रसूता बोली डिलीवरी कराने पेट पर चढ़ी नर्स चांटा भी मारा, बच्चे की मौत के बाद परिजन ने मचाया हंगामा

बैकुंठपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डिलीवरी के दौरान बच्चे की मौत

जिला अस्पताल में शुक्रवार को डिलीवरी के दौरान बच्चे की मौत होने पर परिजन ने हंगामा किया। परिजन ने स्टाफ नर्स पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की है। विरोध बढ़ने पर डॉक्टर पहुंचे और समझाइश दी। दूसरी ओर डॉक्टर ने कहा डिलीवरी से पहले बच्चे की मौत हो चुकी थी।

वहीं परिजन का आरोप है कि नर्स ने पेट को कसकर दबाया और पेट पर बैठ गई थी, जिससे बच्चे की मौत हुई है। विश्रामपुर निवासी दीपक ने गुरुवार रात 9 बजे प्रसूता को जिला अस्पताल में भर्ती कराया था। परिजन का आरोप है कि प्रसूता के साथ एक सहयोगी को भी अंदर नहीं रहने दिया। प्रसूता रेखा ने बताया उसे प्रसव पीड़ा हुई तो वह दर्द से कराहती रही, लेकिन नर्स ने ध्यान नहीं दिया। उसे लेबर रूम में काफी देर तक ऐसे ही रखा। डिलीवरी नहीं होने पर माइनर ऑपरेशन कर नर्स प्रसूता के पेट पर चढ़कर बैठ गई और दबा-दबाकर बच्चे को बाहर निकालने लगी। चाटा भी मारा। नर्स ने परिजन को बताया कि बच्चा पहले ही मर चुका था, जबकि परिजन ने कहा बच्चे की डिलीवरी के दौरान मौत हुई है, बच्चे की जान नर्स की लापरवाही से गई है।

बहू के चीखने की आवाज सुन अंदर पहुंची तब देखा
प्रसूता रेखा की डिलीवरी शुक्रवार रात 3 बजे के आसपास हुई। प्रसूता की सांस ने कहा कि बहू को नर्स द्वारा पीटने पर हम सब उसके पास जाना चाहते थे, लेकिन नर्स ने अंदर नहीं जाने दिया। लेबर रूम के अंदर दर्द से चीख रही बहू की डिलीवरी के लिए एक नर्स उसके पेट पर बैठी थी, ताकि दबाव बना प्रसव करा सकें।

पति ने कहा रेफर कर दो, लेकिन नर्स नहीं सुनी बात
दीपक ने कहा उन्होंने रात में ड्यूटी पर मौजूद स्टाफ नर्स से कहा था कि नार्मल डिलीवरी नहीं हो रही है, तो वह केस को रेफर कर दें, लेकिन नर्स ने उनकी एक न सुनी और प्रसूता के साथ मारपीट करने से बच्चे की मौत हो गई। अब परिजन नर्स पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

शिकायत की जांच कर कार्रवाई करेंगे: सीएस
सिविल सर्जन डाॅ. एसके गुप्ता ने बताया कि परिजन के लगाए हुए आराेप गलत हैं। स्टाफ नर्स आरती डिलीवरी के लिए प्रसूता के पेट को दबा रही थी। उन्होंने कहा कि यदि परिजन शिकायत देते हैं, तो वह इसकी जांचकर कार्रवाई करेंगे। जांच के बाद दोषी पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...