पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हेराफेरी:सिंगरौली से पुणे ले जा रहे 75 लाख की एल्यूमीनियम की सिल्ली को ट्रक मालिक ने मनेंद्रगढ़ में 25 लाख में बेचा, तीन गिरफ्तार

मनेंद्रगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एल्यूमीनियम सिल्लियों को बरामद करते, इनसेट में आरोपी चालक, मालिक व खरीदार। - Dainik Bhaskar
एल्यूमीनियम सिल्लियों को बरामद करते, इनसेट में आरोपी चालक, मालिक व खरीदार।
  • ट्रक मालिक ने सक्ती निवासी खरीदार से किया था सौदा, ड्राइवर ने कटनी में ट्रक से जीपीएस हटाकर किया गुमराह
  • मप्र पुलिस ने सिल्लियों को बरामद किया, बर्तन फैक्ट्री के मालिक की हो रही जांच, उसे भी आरोपी बनाया जाएगा

सिंगरौली स्थित हिंडाल्को कंपनी से लाखों रुपए कीमती एल्यूमीनियम सिल्ली लेकर पूना जा रहा ट्रक बीच रास्ते से अचानक लापता हो गया। शिकायत पर जब पुलिस ने पड़ताल की तो ट्रक में लाेड सिल्लियाें काे मनेंद्रगढ़ स्थित एक सिल्वर फैक्ट्री से बरामद किया है। इस मामले में पुलिस ने अब तक 3 लोगों को आरोपी बनाकर उन्हें हिरासत में लिया है। शुक्रवार को शहर में एमपी पुलिस की दबिश के बाद दिन भर चर्चाओं का बाजार गर्म रहा।

जानकारी के अनुसार सिंगरौली (मप्र) में आदित्य बिड़ला ग्रुप की हिंडाल्को कंपनी का एल्युमिनियम प्लांट स्थित है। यहां से 10 जून को इंडो आर्या ट्रांसपोर्ट कंपनी सिंगरौली के माध्यम से सुल्तानपुर (उप्र) निवासी ट्रक मालिक संदीप सिंह के ट्रक क्रमांक यूपी 44 एटी 4204 में 30 टन 60 किलोग्राम कुल 1 हजार 320 एल्युमिनियम की सिल्ली लादकर युगराज तेजराज एजेंसी पूना (महाराष्ट्र) के लिए ट्रक रवाना हुआ था। सिल्ली की कीमत 74 लाख 54 हजार बताई जा रही है। ट्रक में जीपीएस डिवाइस लगा हुआ था। कटनी के बाद से जब ट्रक का लोकेशन मिलनी बंद हुई तो ट्रांसपोर्टर को शंका हुई। ट्रांसपोर्टर ने सिंगरौली जिले के थाना बरगवां में ट्रक के लापता होने की शिकायत दर्ज कराई।

पुलिस ने केस दर्ज कर पड़ताल शुरू की। इस दौरान पुलिस ने रास्ते में पड़ने वाले टोल प्लाजा में लगे सीसी टीवी फुटेज और साइबर सेल की मदद ली। इस बीच ट्रक चालक के मोबाइल लोकेशन से ट्रक के छत्तीसगढ़ में होने की जानकारी मिली। कई बार ट्रेस करने के बाद बरगवां पुलिस को 14 जून को कुठला स्थित एक पेट्रोल पंप के पास संबंधित ट्रक के खड़ा होने की जानकारी मिली।

इसके बाद बरगवां पुलिस ने कुठला पुलिस की मदद से ट्रक को जब्त कर चालक सुभाष पांडेय को हिरासत में लिया है। चालक ने बताया कि कटनी के पास उसने ट्रक से जीपीएस डिवाइस को निकाल दिया था। इससे कटनी के बाद से ट्रक की लोकेशन मिलनी बंद हो गई। चालक के माध्यम से ट्रक मालिक संदीप सिंह को मौके पर बुलाया गया और उसे भी हिरासत में ले लिया गया।

खरीदारों की निशानदेही पर सामान किया बरामद
मनेंद्रगढ़ से माल की बरामदगी और खरीददार की गिरफ्तारी के लिए शुक्रवार को बरगवां से पुलिस टीम ट्रक मालिक और चालक को लेकर मनेंद्रगढ़ पहुंची। टीम ने मनेंद्रगढ़ पुलिस की मदद से खरीदार सुभाष कसेरा के रिश्तेदार सोना ताम्रकार करे पूछताछ के लिए थाने लाया। इसके बाद सिल्ली की खरीदारी करने वाले सक्ती निवासी सुभाष कसेरा को झगराखंड रोड स्थित एक बर्तन दुकान से हिरासत में लिया। खरीदारों को हिरासत में लेने के बाद पुलिस ने उनकी निशानदेही पर बदन सिंह मोहल्ला स्थित एल्यूमीनियम बर्तन फैक्ट्री से वहां रखी 1 हजार 320 की सिल्ली को जब्त किया है।

लोडिंग के दौरान कबाड़ियों ने छिपाई 6 सिल्लियां
एमपी पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद बरामद माल को ट्रक में लोड करने के लिए मनेंद्रगढ़ पुलिस से मदद मांगी तो पुलिस ने कबाड़ी के कई वाहनों और उनके कर्मचारियों को ही इस काम में लगा दिया। माल को फैक्ट्री से पिकअप में लोडकर कॉलेज के पास खड़े एक ट्रक में लाकर लोड करना था। इस बीच कबाडियों ने6 सिल्ली गायब कर दीं। जानकारी मिलने पर मप्र पुलिस ने छानबीन कर सिल्लियों को जब्त कर लिया।

25 लाख में हुई थी डील
ट्रक मालिक संदीप सिंह ने बताया कि 25 लाख में सुभाष कुमार कसेरा से उनका सौदा हुआ था। जिसमें से 10 लाख रुपए कैश उसे दे दिया गया था और 2 लाख 73 हजार रुपए चेक के माध्यम से प्रतापगढ़ (उप्र) स्थित हमारे पेट्रोल पंप के खाते में ट्रांसफर कराए गए थे। डील की शेष रकम लेनी बाकी थी।

3 आरोपी पुलिस गिरफ्त में
पुलिस ने सुल्तानपुर निवासी ट्रक मालिक संदीप सिंह, चालक सुभाष पांडेय और खरीदार सुभाष कुमार कसेरा को आरोपी बताया है। वहीं सोना ताम्रकार को पूछताछ के बाद रिहा किया गया है। पुलिस ने बताया कि जहां से माल बरामद हुआ है उसके मालिक का पता कर उसे भी आरोपी बनाएंगे।

एक-दूसरे के संपर्क में थे ट्रक मालिक और खरीदार
बरगवां पुलिस को ट्रक मालिक संदीप सिंह और खरीददार सक्ती निवासी सुभाष कसेरा को लंबे समय तक मोबाइल में एक-दूसरे के संपर्क में होने की जानकारी मिल चुकी थी। ट्रक मालिक ने पूछताछ में बताया कि सक्ती जांजगीर-चांपा निवासी सुभाष कसेरा से 25 लाख रुपए में सौदा होने पर 13 जून को सिल्ली से लोड ट्रक को मनेंद्रगढ़ ले जाया गया। यहां कॉलेज के पास स्थित एक खाली प्लाॅट में ट्रक खड़ाकर ट्रैक्टर में माल लोड कर बदन सिंह मोहल्ला स्थित बर्तन बनाने की फैक्ट्री में खाली किया गया।

खबरें और भी हैं...