बिगड़े बोल / अफसरों से बोलीं केंद्रीय राज्यमंत्री रेणुका - कार्यकर्ताओं से जो भेदभाव कर रहे हैं वह भूल जाएं, मैं अंधेरी कोठरी में ले जाकर बेल्ट से ठोकना अच्छे से जानती हूं

Union Minister of State Renuka speaks to officers - Forget the discrimination that she is doing to the workers, I know her well in the dark cell by pushing me with a belt
X
Union Minister of State Renuka speaks to officers - Forget the discrimination that she is doing to the workers, I know her well in the dark cell by pushing me with a belt

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

अम्बिकापुर. केंद्रीय राज्य मंत्री और सांसद रेणुका सिंह की जुबान उस वक्त फिसल गई जब वह क्वारेंटाइन सेंटर में रोके गए भाजपा समर्थक से मुलाकात करने पहुंचीं। क्वारेंटाइन सेंटर में रुके भाजपा समर्थक ने बलरामपुर के क्वारेंटाइन सेंटर में लगे अफसरों पर मारपीट का आरोप लगाया था। इसी बात को लेकर रेणुका ने सेंटर में मौजूद अधिकारी-कर्मचारियों पर जमकर भड़ास निकाली और कहा, आप लोग जनपद और तहसील में बैठकर भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ जो भेदभाव कर रहे हैं ना वह भूल जाइए, मैं अंधेरी कोठरी में ले जाकर बेल्ट खोलकर अच्छे से ठोकना जानती हूं। सांसद भर रहती तो पूरे टाइम अपने क्षेत्र में रहती, लेकिन मंत्री भी हूं न इसलिए दिल्ली में भी रहना पड़ता है, देश की बड़ी जिम्मेदारी है। ऐसे में यह मत समझिए कि जनता या हमारे कार्यकर्ता यहां निरीह हो गए हैं। बता दें कि रेणुका कुछ दिन पहले अपने संसदीय क्षेत्र में आई हैं। बलरामपुर के क्वारेंटाइन सेंटर में इसी युवक ने अच्छी व्यवस्था नहीं होने की बात कहने के कारण उसके साथ अधिकारियों द्वारा मारपीट करने का आरोप लगा था। तब भाजपा समर्थक युवक होने के कारण पार्टी कार्यकर्ताओं ने मारपीट करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की थी। इस बीच अधिकारियों ने युवक को जिले के डौंरा गांव के क्वारेंटाइन सेंटर भेज दिया था। वे शुक्रवार को क्वारेंटाइन सेंटर डौंरा में पहुंच गईं। तब उनके साथ करीब 20 से अधिक कार्यकर्ता थे।
144 का उल्लंघन, संक्रमण का खतरा, अफसर भी खामोश
रेणुका सिंह जिस समय क्वारेंटाइन सेंटर में पहुंचीं, उनके साथ कई लोग थे। जबकि अधिकारियों का कहना है कि इससे महामारी एक्ट का उल्लंघन हो रहा है। वहीं अगर डौंरा के क्वारेंटाइन सेंटर में एक भी पाॅजिटिव केस मिला तो सभी को ट्रेस करना मुश्किल हो जाएगा। अधिकारी ने कहा कि कलेक्टर को ऐसे हालात से अवगत कराया है, लेकिन राजनीति बढ़ने के कारण नेताओं का दौरा कम नहीं हो रहा है।
सेंटर में जाकर राज्यमंत्री ने रिस्क में डाल दिया: कलेक्टर
बलरामपुर कलेक्टर संजीव कुमार झा ने कहा है कि क्वारेंटाइन सेंटर में युवक ने जो आरोप लगाए हैं। उसकी जांच के लिए टीम गठित की है। सीईओ ने आरोप स्वीकार किया है यह रिकॉर्ड में नहीं है। जहां तक राज्य मंत्री द्वारा हुजूम के साथ सेंटर आने की बात है तो पाॅजिटिव केस वहां मिलने के बाद सभी का  वीडियो देखकर कांटेक्ट ट्रेस करना पड़ेगा, उन्होंने रिस्क में डाल दिया है।
सीईओ को डांटा तो मारपीट की बात कबूल की: रेणुका
रेणुका ने कहा कि युवक का पिता मुझसे मिलने आया तो मुझे सेंटर जाना पड़ा। युवक से मिली तो सीईओ और तहसीलदार के सामने मारपीट का आरोप लगा रहा था। तब भी सीईओ स्वीकार नहीं कर रहे थे। सीईओ को डांट लगाई तो मारपीट हाेने की बात कबूल किया। मेरे साथ 7 से 8 लोग ही मेरे साथ थे। इस मामले में कार्रवाई नहीं होती है तो भाजपा आंदोलन करेगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना