पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हमारे अफसर सुस्त:यूपी सरकार ने दिए थे 70 करोड़, 5 साल में 22 बार आवेदन, नहीं बांटा मुआवजा

अंबिकापुर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • यूपी सरकार ने 1974 में की थी अमवार डैम निर्माण की शुरुआत, विरोध से 1984 में काम बंद, 6 पंचायतों को दी थी राशि

यूपी में 22 अरब की लागत से बन रहे अमवार डैम का निर्माण पूरा होने वाला है और इस डैम से प्रभावित छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले के ग्राम झारा के डूबान प्रभावित क्षेत्र के लोग मुआवजा के लिए अब भी भटकने को मजबूर हैं। प्रभावित 22 बार अधिकारियों को आवेदन दे चुके हैं, लेकिन सिर्फ आश्वासन मिल रहा है। पंचायत झारा के सरपंच मनतू पंडों के नेतृत्व में डूबान प्रभावित क्षेत्र के लोगों ने कलेक्टर से मुआवजा दिलाने की मांग की है। वहीं प्रभावित लोगों को विस्थापित करने बनाई जा रही काॅलोनी का निर्माण भी पूरा नहीं हो सका है।

छत्तीसगढ़ सीमा से करीब 6 किमी दूरी पर उत्तरप्रदेश के अमवार में 22 अरब लागत से बांध का निर्माण हो रहा है। शुरू में बांध के निर्माण को लेकर उत्तरप्रदेश से लेकर छत्तीसगढ़ तक विरोध की आग फैली थी, कई दिनों तक आंदोलन भी चला था। तब डूबान क्षेत्र प्रभावितों को मुआवजा देने दोनों प्रदेशों में सर्वे भी हुए थे। वहीं यूपी सरकार ने मुआवजा बांटने और विस्थापितों के पुनर्वास के लिए 70 करोड़ छत्तीसगढ़ सरकार को दी, लेकिन अब तक डूबान क्षेत्र के प्रभावितों को नहीं मिल सकी है।

एक महीने में मुआवजा भुगतान करने के थे निर्देश

तीन साल पहले जिले के तत्कालीन कलेक्टर हीरालाल नायक उत्तरप्रदेश में बन रहे अमवार डैम और उससे प्रभावितों के पुनर्वास की व्यवस्था देखने गए थे, जिसके बाद त्रिशूली में एक जनसभा भी हुई थी, जहां उन्होंने संबंधित अधिकारियों को एक माह के अंदर प्रकरण तैयार कर डूबान क्षेत्र के प्रभावितों को मुआवजा भुगतान करने के निर्देश दिए थे, पर विडंबना यह है कि प्रभावित अब भी मुआवजा का इंतजार कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...