CG में मुस्लिम दुकानदारों के बहिष्कार का वीडियो:सरगुजा में लोगों ने ली शपथ- इनसे न सामान खरीदेंगे, न जमीन बेचेंगे; न्यू ईयर पर हुई मारपीट से हैं नाराज

सरगुजा13 दिन पहले
भीड़ के इस तरह से शपथ लेने का वीडियो भी सामने आया है।

छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले से एक वीडियो सामने आया है। जिसमें एक भीड़ मुस्लिम दुकानदारों के बहिष्कार की बात कर रही है। साथ ही भीड़ के लोग ये कह रहे हैं कि हम शपथ लेते हैं कि अब से किसी भी मुस्लिम दुकानदार से सामान नहीं लेंगे। भीड़ ये कहते हुए भी सुनाई दे रही है कि हम अब इन्हें जमीन लीज पर नहीं देंगे,ना ही बेचेंगे। ये मामला मारपीट से जुड़ा है। जिसके बाद ये पूरा वीडियो सामने आया है। मामला लुंड्रा थाना क्षेत्र का है।

दरअसल, यहां 01 जनवरी को आरा गांव के कुछ लड़कों का कुन्दी कला के इंद्रजीत, प्रमोद समेत कुछ और युवकों के साथ झगड़ा हुआ था। बताया गया कि आरा के कुछ लड़के न्यू ईयर के दिन इस गांव में पिकनिक मनाने गए थे। इसी दौरान दोनों गुटों में झगड़ा हो गया था।

घर में घुसकर भी पीटा

झगड़े के बाद आरा गांव के 10 से 15 युवक बोलेरो और बाइक से कुंदी कला गांव पहुंचे गए थे। यहां वे इंद्रजीत, प्रमोद समेत अन्य के घर में भी घुस गए थे और उनके परिजनों से भी मारपीट की थी। घटना के बाद इस बात की सूचना पुलिस को दी गई थी। जिसके बाद पुलिस ने आरा गांव के 6 लोगों के खिलाफ धारा 147, 294, 323, 506, 452 के तहत केस दर्ज किया था। इसके बाद इन्हें गिरफ्तार भी कर लिया गया था। शुक्रवार को इस मामले में 07 और आरोपियों को भी गिरफ्तार किया गया है।

ग्रामीणों ने थाने में जाकर विरोध प्रदर्शन किया था।
ग्रामीणों ने थाने में जाकर विरोध प्रदर्शन किया था।

ग्रामीणों ने किया था गिरफ्तारी का विरोध

उधर, 6 लोगों की गिरफ्तारी के बाद कुन्दी कला गांव के लोगों का गुस्सा भड़क गया था और उन्होंने 5 जनवरी को लुंड्रा थाने का घेराव कर दिया था। ग्रामीणों का कहना था कि घर में रह रही युवती के साथ भी आरा गांव के लोगों ने मारपीट की। इतना ही नहीं उन्होंने पुलिस पर सामान्य धाराओं में केस दर्ज करने का आरोप लगाया। ग्रामीणों का कहना था कि सामान्य धाराओं में केस दर्ज करने के चलते ही ये आरोपी छूट गए हैं। ग्रामीणों ने उस दौरान पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी थी।

वीडियो में ये कह रहे लोग

वहीं सोशल मीडिया में अब जो वीडियो आया है। वह भी 5 जनवरी का ही बताया जा रहा है। उस दिन गांव के लोगों ने गांव में एक आमसभा बुलाई थी। वीडियो में लोगों की काफी भीड़ दिखाई दे रही है। ये भीड़ कह रह है कि हम मुस्लिम दुकानदारों से अब किसी प्रकार का लेनदेन नहीं करेंगे। हमारे गांव में यदि कोई फेरी वाला भी आता है तो पहले उसी जांच करेंगे यदि वह मुस्लिम हुआ तो उससे सामान नहीं लेंगे। इतना ही नहीं वीडियो में लोग ये भी कहते हुए सुनाई दे रहे हैं कि हम इस बात की शपथ लेते हैं कि पूरी जीवन इस शपथ का पालन करेंगे।

पुलिस ने शांति बनाए रखने की अपील की

मामले का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने भी एक बयान जारी किया है। पुलिस ने अपने बयान में कहा है कि घटना के बाद एक वीडियो वायरल हुआ है। जो सामाजिक, सद्भाव, सौहार्द उचित नही है। पुलिस का कहना है कि एसपी के निर्देश के बाद सीनियर अधिकारियों को 6 जनवरी को कुंदीकला गांव भी भेजा गया था। उनसे शांति व्यवस्था बनाने की अपील की गई है। पुलिस का कहना है कि मामले में अब तक 13 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा मामले में अभी जांच जारी है। हालांकि पुलिस की तरफ से अभी आरोपियों के नाम की जानकारी नहीं दी गई है।

खबरें और भी हैं...