पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अच्छी पहल:अस्पताल में रक्तदान कैंप लगाया तो एक दिन में 35 यूनिट से ज्यादा इकट्‌ठा हो गया ब्लड

अंबिकापुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भाजपा के युवा व किसान मोर्चा ने मेडिकल कॉलेज में रक्तदान शिविर का आयोजन किया

कोरोना के दौर में अस्पताल में अन्य बीमारियों से पीड़ित गंभीर मरीजों को इमरजेंसी में खून की होने वाली कमी को दूर करने के उद्देश्य से भाजपा के युवा मोर्चा व किसान मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने शनिवार को मेडिकल कॉलेज अस्पताल में रक्तदान किया। दोनों मोर्चा के बड़ी संख्या में कार्यकर्ता रक्तदान करने सामने आए और देखते ही देखते ब्लड बैंक में 35 यूनिट से अधिक ब्लड इकट्‌ठा हो गया।

जिला भाजपा अध्यक्ष ललन प्रताप सिंह ने कहा कि युवाओं के इस पुनीत कार्य से कई मरीजों की जान बच जाएगी। महामारी के इस दौर में दूसरे रोग से पीड़ित मरीजों के लिए ब्लड डोनेशन बहुत ही बड़ा काम है। यह समय की जरूरत है, क्योंकि अभी सामान्य स्थिति नहीं होने के कारण बाहर में कही भी ब्लड डोनेशन कैंप भी नहीं हो पा रहे हैं। उन्होंने सामान्य लोगों से भी मरीजों के लिए ब्लड डोनेट करने का आह्वान किया। इस दौरान संगठन के पदाधिकारियों के अलावा ब्लड बैंक के प्रभारी डॉ. विकास पांडेय और अन्य कर्मचारी उपस्थित थे।

48 साल की उम्र में कालेज के डॉक्टर ने 50वीं बार किया ब्लड डोनेशन: मेडिकल काॅलेज के बायोकेमिस्ट्री विभाग के एचओडी डॉ. आरके श्रीवास्तव ने भी रक्तदान किया। श्रीवास्तव 48 साल के हैं और वे अक्सर रक्तदान करते हैं। आज उनका 50वां रक्तदान था। इसको लेकर अस्पताल प्रबंधन ने उन्हें प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मानित किया।

इंटर्न डाॅक्टर ने प्रसूता के लिए किया रक्तदान
डॉ. दुर्गेश कुमार इसी साल एमबीबीएस पास करने के बाद अस्पताल में इंटर्नशिप कर रहे हैं। बताया गया है कि प्रसव के बाद खून की कमी से एक महिला हालत गंभीर थी। अस्पताल में संबंधित ग्रुप का ब्लड नहीं था। दुर्गेश का वही ग्रुप था, जो प्रसूता का है। फिर उन्होंने महिला के लिए रक्तदान किया। उन्हें भी प्रबंधन की तरफ से सम्मानित किया गया।

खबरें और भी हैं...