केले की खेती:दो एकड़ में लगाया केला, 120 क्विंटल बेचकर कमाए 1.20 लाख रुपए मुनाफा

बरबसपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
केले की फसल से स्वावलंबी बन रहे किसान। - Dainik Bhaskar
केले की फसल से स्वावलंबी बन रहे किसान।

ग्रामीण अंचलों के किसानों ने धान की फसल के बदले केले की खेती कर रहे हैं। केले की अच्छी पैदावार से किसान खूब मुनाफा कमा रहे हैं। कवर्धा ब्लॉक अंतर्गत ग्राम पंचायत जमुनिया के आश्रित गांव सारंगपुर खुर्द के किसान महादेव राजपूत ठाकुर ने अपने 2 एकड़ की खेतों में माह जुलाई में केला लगाया था।

केले की खेती के लिए मजदूरों से रोपाई कार्य कराया, जिसमें 85 हजार रुपए लागत आई थी। अक्टूबर तक केले के पौधे तैयार हुए और फिर केले परिपक्व हुआ। अब किसान केले की कटाई कर मंडी में बेचने ले जा रहा है। एक क्विंटल केले को 1000 रुपए के भाव में बेच रहे हैं। अब तक 120 क्विंटल केले बेच चुके हैं और 1.20 लाख रुपए नकदी कमा चुका है। महादेव राजपूत ठाकुर ने बताया कि अभी 200 क्विंटल केले और बेचने की अनुमान है। मजदूरों से केले की कटाई कराई जा रही है। त्योेहार में मजदूरों को रोजी-रोटी भी मिल रहा है। महादेव ने बताया कि केले के अधिक महत्व पर्व और त्योहार व्रत उपवास में विशेष रहता है। केले दो प्रकार के होते हैं पहला कच्चा केले जो सब्जी के रूप में उपयोग किया जाता है। दूसरा केले पका हुआ होता है, जो फल के रूप में उपयोग किया जाता है। व्रत उपवास और पर्व में उपयोग किया जाता है। वर्तमान में कच्चे केले 1 किलो 10 में और पका हुआ केला बारह नग 35 से 40 रुपए में बिक रहे हैं।

खबरें और भी हैं...