डरना जरूरी है:1102 नए कोरोना के केस मिले 24 घंटे में 23 लोगों की मौत

काेरबा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

काेराेना संक्रमण की दूसरी लहर से डरना जरूरी है, क्याेंकि लाॅकडाउन का 14 दिन बीत गया, लेकिन जिले में संक्रमिताें की संख्या कम हाेने की बजाए और बढ़ती जा रही है। बुधवार काे ताे रिकार्ड 1102 मरीज मिले हैं, जाे अब तक की सबसे अधिक संख्या है। वहीं जिले के 23 लाेगाें की इलाज के दाैरान माैत हुई है। इनमें 17 पुरुष और 6 महिलाएं हैं।

साथ ही चिंता की बात यह भी है कि संक्रमण ने अपना दायरा ग्रामीण क्षेत्राें में भी बढ़ा लिया है। लगातार तीसरे दिन के आंकड़े में शहर की तुलना में ग्रामीण क्षेत्राें में ज्यादा संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। बुधवार काे भी शहर से डेढ़ गुना अधिक केस ग्रामीण अंचल से निकले हैं। कुल 1102 मरीज में शहर से 468 व ग्रामीण क्षेत्र से 663 हैं। इनमें 649 पुरुष व 413 महिला हैं। काेरबा शहर में 323 व ग्रामीण में 122, कटघाेरा शहर में 145 व ग्रामीण में 235, पाली में 138, करतला में 71 और पाेड़ी-उपराेड़ा में 68 संक्रमिताें की पहचान हुई है। ग्रामीण क्षेत्र में लगातार बढ़ते केस ने प्रशासन काे भी चिंता में डाल दिया है, क्याेंकि अब तक काेविड मरीजाें के इलाज की बेहतर व्यवस्था नगर निगम सीमा क्षेत्र के अस्पतालाें में है।

रेल व सड़क मार्ग से आने वाले 72 घंटे के भीतर देंगे कोविड निगेटिव रिपोर्ट

काेराेना संक्रमण नियंत्रण के लिए जिले में रेल और सड़क मार्ग से आने वाले सभी यात्रियाें काे 72 घंटे के भीतर का कोविड रिपोर्ट प्रस्तुत करनी हाेगी। रिपोर्ट निगेटिव होने पर ही जिले में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। ऐसे यात्री जिनकी रिपाेर्ट निगेटिव है और कोविड के लक्षण नहीं हैं, उन्हें होम क्वारेंटाइन रहना होगा। वहीं जिनकी रिपाेर्ट निगेटिव है, लेकिन लक्षण हैं, उन्हें आगमन स्थल पर फिर से कोविड-19 जांच करानी होगी। पॉजिटिव पाए जाने पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्धारित निर्देशों और प्रक्रिया अनुसार इलाज कराना हाेगा।

ईएसआईसी कोविड अस्पताल में 11 की मौत

सबसे अधिक 11 मरीजाें ने ईएसआईसी कोविड अस्पताल में दम ताेड़ा है। सिपेट काेविड अस्पताल में 3, एनकेएच में 2, जीवन आशा अस्पताल में 1 मरीज की माैत हुई। वहीं बिलासपुर के किम्स हाॅस्पिटल व श्रीराम अस्पताल में 2-2 मरीज और रायपुर के संजीवन अस्पताल में 2 मरीज की माैत हुई है।

खबरें और भी हैं...