पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरबा से पैसेंजर ट्रेनें फिर शुरू:1115 सीटों वाली बिलासपुर-गेवरारोड पैसेंजर स्पेशल 92 यात्रियों को लेकर पहुंची कोरबा

कोरबा11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कटनी और नागपुर रूट के साथ नियमित ट्रेन से अप और डाउन करने वालों को राहत

लॉकडाउन के 11 महीने बाद सोमवार को बिलासपुर से पैसेंजर ट्रेन यहां पहुंची। पहले दिन समय की जानकारी का अभाव और कुछ हद तक अब भी कोरोना के डर के कारण कोरबा पहुंची ट्रेन खाली-खाली सी रही। इस ट्रेन में 1115 सीटें थीं, लेकिन कोरबा पहुंचने वाले यात्रियों की संख्या सिर्फ 92 थी।

लॉकडाउन के पहले यही ट्रेन दैनिक रेल यात्रियों, कारोबार और अन्य कारणों से कोरबा आने वाले लोगों की पसंदीदा ट्रेन रही है। सुबह 7.30 बजे बिलासपुर से चलकर कोरबा 9.55 बजे पहुंचने का समय भी उन्हें सही लगता है। तब यह गाड़ी यात्रियों से पूरी भरी रहती थी। खैर लॉकडाउन के बाद सोमवार से पैसेंजर ट्रेन चलने का सिलसिला शुरू हो गया। मंगलवार से रायपुर और बिलासपुर जाने लिंक एक्सप्रेस की अतिरिक्त तीन ट्रेन मिलेगी। यात्रियों को सुविधा तो मिलने जा रही है, लेकिन कोविड स्पेशल के रूप में इन ट्रेनों के शुरू होने के कारण यह सफर महंगा होगा। रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि पैसेंजर में पहले दिन की तुलना में मंगलवार से यात्रियों की संख्या बढ़ने लगेगी। ट्रेन चलने की जानकारी नहीं होने से यह स्थिति बनी होगी।

किराया ढाई से तीन गुना लिया
लोकल ट्रेनों को स्पेशल के तौर पर चलाने की वजह से इनका किराया मेल-एक्सप्रेस जैसा हो गया है। कोरोना काल से पहले सरगबुंदिया और उरगा से कोरबा का किराया लोकल और पैसेंजर में 5 रुपए था। सोमवार को इसका टिकट 30 रुपए में दिया गया। डिस्टेंस के हिसाब से सभी स्टेशनों का किराया दो से ढाई गुना अधिक लिया गया।

कोरोना का डर और महंगी टिकट भी एक कारण
महाराष्ट्र के कुछ शहरों में सोमवार से लॉकडाउन कर दिया गया। देश के अलग-अलग हिस्सों में कोरोना की दूसरी और तीसरी लहर आने की बात जानकार कह रहे हैं। टीका अभी आम लोगों के लिए उपलब्ध नहीं हुआ है। ऐसे में लोग कोरोना के डर के कारण अब भी निजी वाहन से सफर करना बेहतर मान रहे हैं। निजी वाहन का सफर भी महंगा होने के कारण लोग शेयरिंग के के तौर पर निजी वाहन में आ जा रहे हैं। इसमें यात्री अपना खर्च बांट लेते हैं। ट्रेन की टिकट भी महंगी है।

850 थे एमएसटी धारक, जो अब हैं खुश: समान्य दिन में जॉब, व्यवसायिक लेन-देन को लेकर कोरबा से हर दिन 650 यात्री मासिक टिकट लेकर यात्री करते रहे हैं, जो बाइक अथवा कोविड स्पेशल एक्सप्रेस टेन में सफर करने को मजबूर थे। अब ये सभी ट्रेन में सफर कर सकेंगे।

कोरबा के लिए अलाउंस सुन खुशी
बालको में रहने वाले रामचंद्र ठाकुर जो बलिया से सारनाथ एक्सप्रेस में बिलासपुर सुबह 4 बजे पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि परिवार के साथ लिंक एक्सप्रेस का इंतजार कर रहे थे। कोरबा के लिए जब पैसेंजर ट्रेन का अलाउंस हुआ तो उनकी खुशी का ठिकाना न रहा। लिंक एक्सप्रेस में टिकट होते हुए भी उन्होंने पैसेंजर की टिकट ली और कोरबा आ गए।

ऑटो चालकों की जागी उम्मीद
स्टेशन में ऑटो लेकर पहुंचे रमेश डहरिया ने बताया कि लोकल ट्रेनों के शुरू होने से उनकी आय बढ़ने की उम्मीद जागी है, क्योंकि पैसेंजर और लोकल ट्रेनों के साथ चल रही एक्सप्रेस ट्रेनों से आने-जाने वालों की संख्या बढ़ेगी। उससे उनको भी सवारी अपेक्षानुरूप मिलने लगेगी। अब तक वे कोविड की मार से उबर नहीं पाए थे।

अप और डाउन दिशा में ये ट्रेनें
गेवरारोड से सुबह 5.55 बजे रायपुर मेमू, शाम 4.10 बजे लिंक एक्सप्रेस कोविड स्पेशल में लोग नियमित सफर कर सकेंगे। सुबह 11.35 बजे कोरबा से अमृतसर एक्सप्रेस पूजा स्पेशल के रूप में मंगल, बुध व शुक्र को ही चलेगी। सुबह 7.30 बजे बिलासपुर से गेवरारोड पैसेंजर स्पेशल के रूप में तो रायपुर से दोपहर 1.50 बजे मेमू लोकल गेवरारोड के लिए आएगी। लिंक एक्सप्रेस सुबह 7 बजे रायपुर से कोरबा के लिए पहले की तरह आएगी। सप्ताह में एक दिन यशवंतपुर है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें