पानी टंकी का वॉल्व खराब:सीतामढ़ी की 35 हजार आबादी को नहीं मिला पानी, सुधारने 12 लाख लीटर पानी बहाना पड़ा

कोरबा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुनालिया चौक पर स्थित पानी टंकी - Dainik Bhaskar
सुनालिया चौक पर स्थित पानी टंकी
  • सुनालिया चौक की पानी टंकी से शहर के 4 वार्डों में होती है पानी आपूर्ति

सुनालिया चौक में बनी पानी टंकी का आउटलेट वॉल्व खराब होने से गुरुवार को 4 वार्डों में पानी आपूर्ति नहीं हो पाई। इससे 35 हजार से अधिक आबादी को पानी की किल्लत हुई। जिनके घरों में बोरिंग थी, वहां से पानी मांगकर काम चलाना पड़ा। वॉल्व को सुधारने टंकी को खाली करना पड़ा। करीब 12 लाख लीटर पानी को नाले में बहा दिया गया।

देर शाम सुधार कार्य पूरा हुआ। अब शुक्रवार से नियमित पानी की आपूर्ति होगी। सुनालिया चौक की पानी टंकी से संजयनगर, मोतीसागर पारा, बरबसपुर, सीतामढ़ी क्षेत्र की बस्तियों में पानी की आपूर्ति की जाती है। गुरुवार सुबह जब कर्मचारी टंकी के वॉल्व खोलने पहुंचा तो स्लीप होने लगा। उसने इसकी जानकारी निगम अफसरों को दी, लेकिन पानी की आपूर्ति नहीं हो सकी। टंकी से 12 लाख लीटर पानी नाली में बहाकर मरम्मत शुरू की। दोपहर में अधिकारी दावा कर रहे थे कि एक घंटे में सुधार कर लिया जाएगा। उसके बाद पानी की आपूर्ति होगी, लेकिन शाम तक सुधार कार्य चलता रहा। जब तक पानी टंकी को भरा नहीं जाएगा, तब तक आपूर्ति संभव नहीं है।

4 साल पहले 1.33 करोड़ में बनी थी पानी की टंकी
सुनालिया चौक में 4 साल पहले 1.33 करोड़ रुपये में पानी टंकी का निर्माण कराया गया था। पुरानी बस्ती क्षेत्र में पानी की आपूर्ति जोन दफ्तर के पास बनी पानी टंकी से होती है। बरबसपुर क्षेत्र में बाद में पाइपलाइन बिछी। इसके बाद पानी टंकी को शुरू किया गया। इसके बाद भी पानी की आपूर्ति समय पर नहीं हो पाती है।

तकनीकी खराबी सेे आपूर्ति में आई समस्या: माहेश्वरी
नगर निगम के कार्यपालन अभियंता व पेयजल आपूर्ति प्रभारी आरके माहेश्वरी का कहना है कि तकनीकी खराबी के कारण पानी की आपूर्ति बाधित हुई है। वॉल्व में खराबी आ गई थी। इसे सुधार लिया गया है। आगे पानी की समस्या नहीं होगी।

खानापूर्ति: पानी आपूर्ति व्यवस्था के लिए पांच करोड़ का ठेका
नगर निगम क्षेत्र के 42 वार्डों की पेयजल आपूर्ति व्यवस्था को देखने के लिए 5 करोड़ रुपए में निजी कंपनी को ठेका दिया गया है। पाइप लाइन की मरम्मत और किसी प्रकार की समस्या आने पर सुधार ठेका कर्मी ही करते हैं। निगम के अधिकारी अब सिर्फ माॅनिटरिंग कर रहे हैं।

पानी सप्लाई नहीं होने पर बढ़ा गुस्सा

1. इमलीडुग्गू: पानी आपूर्ति का कोई समय ही नहीं, आए दिन यही स्थिति
इमलीडुग्गू की सुनीता यादव का कहना है कि पानी आने का समय ही नहीं है। कभी 5 बजे तो कभी 7 बजे नल में पानी आता है, लेकिन गुरुवार को सुबह ही नहीं शाम को भी पानी नहीं आया।
2. सीतामढ़ी: पड़ोसी से पानी लेकर चलाया काम, शाम को फिर परेशानी
वार्ड क्रमांक 8 कुम्हार मोहल्ला निवासी रमेश कुमार ने बताया कि पड़ोसी के घर में पहले से ही पंप लगा हुआ है। जहां से पानी लेकर काम चलाना पड़ा। सुबह के बाद शाम को भी पानी नहीं आया।
3. संजयनगर: अब तो पानी का टैंकर भी नहीं भेजते, अनदेखी क्यों
नहर किनारे निवासी शशि यादव ने बताया कि सुबह पानी नहीं आया। यह तो अच्छा है कि अभी नहर में पानी चल रहा है, जिससे निस्तारी के लिए पानी मिल जाता है। अगर पानी की आपूर्ति नहीं हो रही है तो टैंकर की व्यवस्था करनी चाहिए। समझ नहीं आता अनदेखी क्यों।

खबरें और भी हैं...