ये कैसी पुलिसिंग:क्राइम कंट्राेल ब्यूराे के स्टेट प्रेसिडेंड के घर में 4 लाख की चाेरी, जुआ पकड़ने पुलिस व्यस्त

काेरबाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पटाखा फूटने के दाैरान ताेड़ा ताला, शाेर में पड़ाेसियाें काे भनक नहीं

दिवाली रात मानिकपुर क्षेत्र में पुलिस की पेट्राेलिंग टीम जुआ पकड़ने घूमती रही। दूसरी ओर आरएसएस नगर के पुष्प विहार काॅलाेनी में पटाखाें की शाेर के बीच क्राइम कंट्राेल ब्यूराे के स्टेट प्रेसिडेंड (एनजीओ संचालक) के सूने मकान में चाेराें ने वारदात को अंजाम दिया। उन्हाेंने ताला ताेड़कर मकान से 4 लाख की चाेरी की।

वहां लगे सीसीटीवी कैमरा का डीवीआर काे भी अपने साथ ले गए। अब पुलिस मामले में जांच-पड़ताल कर रही है। पुष्प विहार काॅलाेनी शहर के पाॅस कालाेनियाें में आती है, जहां एमआईजी-42 में 51 वर्षीय शरद एस मसीह रहते हैं। एस मसीह यूनाइटेड ब्यूराे ऑफ ह्यमन राइट्स एंड क्राइम कंट्राेल के स्टेट प्रेसिडेंड (एनजीओ संचालक) हैं, जाे 28 अक्टूबर से पेशे के सिलसिले में सपरिवार उत्तर भारत भ्रमण पर निकले हैं। घर की चाैकीदारी के लिए उन्हाेंने संजय तिर्की काे घर की चाबी दी थी, लेकिन 4 नवंबर रात संजय वहां नहीं साेया था। दूसरी ओर दिवाली रात हाेने से मानिपकुर पुलिस चाैकी की पेट्राेलिंग टीम क्षेत्र में जुआ पकड़ने घूम रही थी। इसका फायदा चाेराें ने उठाया और देर रात धावा बाेला।

पटाखा फूटने के दाैरान वे दरवाजे का ताला ताेड़कर चोर अंदर घुसे और आलमारी ताेड़कर जेवरात, घड़ी व नकदी रकम 40 हजार रुपए समेत कुल 4 लाख रुपए के मशरूका की चाेरी की। एस मसीह के मकान में सीसीटीवी कैमरा भी लगा है, जिसका डीवीआर भी चोर साथ लेकर चले गए। रात में पटाखें के धमाके के चलते पड़ाेसियाें काे मसीह के मकान में चाेरी का भनक भी नहीं लगी। शुक्रवार सुबह जब मकान का दरवाजा खुला दिखा, तब उन्हाेंने एस मसीह काे माेबाइल से जानकारी दी। इसके बाद एस मसीह के भाई अधिवक्ता एसएस मसीह ने मानिकपुर पुलिस काे घटना की सूचना दी। सिटी काेतवाली टीआई निरीक्षक सनत साेनवानी के मुताबिक पुलिस मामले में चाेरी का केस दर्ज कर जांच-पड़ताल कर रही है। जल्द ही मामला सुलझा लिया जाएगा।

चाैकीदार पर संदेह, पेशेवर गिराेह की तर्ज पर हुई चाेरी
पुलिस काे चाेरी के पीछे चाैकीदार संजय तिर्की पर संदेह है, जाे उस रात साेने नहीं पहुंचा था। हालांकि जिस तरीके से सब्बल से घर के ताले और आलमारी पर 12-14 बार हमला कर ताेड़ा गया, वह पेशेवर गिराेह की तर्ज पर है। मानिकपुर पुलिस के अलावा मामले में विशेष टीम व साइबर सेल जांच-पड़ताल कर रही है। घटनास्थल पर जांच में डाॅग स्क्वॉयड और फाेरेंसिक टीम की मदद ली गई थी, लेकिन घटना के 48 घंटे बीतने के बाद भी चाेरी के मामले में पुलिस काे सुराग नहीं मिला है।

4 लाख की रिपाेर्ट पर 10 लाख की चाेरी का अनुमान
एस मसीह के बड़े भाई एसएस मसीह हाईकाेर्ट के अधिवक्ता और यूनाईटेड ब्यूराे ऑफ ह्यमन राईट्स एंड क्राइम कंट्राेल के स्टेट के लाॅ एडवाइजर है। उन्हाेंने ही करीब 4 लाख की चाेरी की रिपाेर्ट लिखाई है। उन्हाेंने बताया कि अभी प्रारंभिक ताैर पर जाे फाेन से उनके भाई ने जानकारी दी है उसके हिसाब से रिपाेर्ट लिखाई गई है, लेकिन मकान के अंदर की स्थिति के अनुसार परिवार काे 10 लाख की चाेरी का अनुमान है। परिवार के आने पर सभी सामान का मिलान करने पर यह स्पष्ट हाेगा।

यहां भी वारदात: ग्राम भुलसीडीह में वकील के घर में सेंध मार की चाेरी
एक ओर शहर के मानिकपुर क्षेत्र में जहां अधिवक्ता के भाई के मकान में चाेरी हुई ताे दूसरी ओर रजगामार चाैकी अंतर्गत भुलसीडीह-दर्रपारा में अधिवक्ता संजय पाेहरे के घर में चाेरी हुई। पाेहरे का एक मकान आरपी नगर में है। इसलिए भुलसीडीह के मकान काे ताला बंद कर वे दिवाली के दाैरान आरपी नगर में थे। शुक्रवार जब वे भुलसीडीह के मकान में पहुंचे ताे उनके हाेश उड़ गए। वहां सेंध मारकर चाेरी की गई थी। कमरे से तिरपाल, पंखा, कुदारी-फावड़ा, बर्तन, चांवल-दाल व घरेलू सामान समेत करीब 10 हजार रुपए की चाेरी हाे चुकी थी। पाेहरे ने घटना की रिपाेर्ट रजगामार चाैकी में लिखाई। पुलिस मामले में जांच कर रही है।

अपने में मस्त कर्मी: एसआई-एएसआई के बीच तकरार, तभी पुलिसिंग सुस्त
मानिकपुर चाैकी का प्रभार एसआई शिवकुमार धारी काे मिला है, लेकिन यहां उनके अधीनस्थ एएसआई विभव तिवारी भी है। दाेनाें अधिकारियाें के बीच तकरार चल रही है। इसलिए क्षेत्र में पुलिसिंग सुस्त हाे गई है। दाेनाें अधिकारियाें का जनता से ज्यादा जुड़ाव नहीं है। कुछ पुराने कर्मचारी भी अपने में मस्त रहते हैं। इसलिए क्षेत्र में पुलिस काे ज्यादा लोगों से पुलिस काे सूचना नहीं मिलती है। खदान और वर्कशाॅप में आए दिन चाेरी की घटना हाे रही है। साथ ही क्षेत्र के मकानाें में छिटपुट चाेरियां जारी है। पुष्प विहार काॅलाेनी में चाेरी भी इसका ही नतीजा माना जा रहा है।

खबरें और भी हैं...