नौतपा 25 मई से / तपिश, बूंदाबांदी व उमस के साथ गुजरेंगे नौतपा के 7 दिन

7 days of Nautap will pass with tapish, drizzle and humidity
X
7 days of Nautap will pass with tapish, drizzle and humidity

  • मौसम विभाग का अनुमान 25 से 31 के बीच औसत तापमान 44 डिग्री तक रहेगा, हवा भी चलेगी

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

कोरबा. बीते 5 साल के बाद इस बार नौतपा का अलग ही असर देखने मिलेगा। तपिश भी रहेगी, बूंदाबांदी भी होगी तो कहीं अच्छी बारिश भी। उमस की बेचैनी हर किसी को परेशान करेगी। क्योंकि प्रारंभ के 7 दिन का औसत तापमान 43-44 डिग्री तक बने रहने की संभावना है।
तापमान गिरेगा, लेकिन जून में गर्मी से राहत नहीं मिलेगी। 25 मई को सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में शुरुआत के साथ गर्मी बढ़ेगी जो 31 मई तक रहेगी। इसी दिन शुक्र अस्त हो जाएगा व 1 जून के साथ सूरज का प्रभाव कम होने लगेगा। बीते वर्षों के नौतपा को देखें तो प्रारंभ के दिन से लेकर अगले 4-5 दिन के बीच अच्छी बारिश हुई। तेज धूप के बजाय अंधड़ व तेज हवाओं ने परेशान किया। इस बार संकेत अच्छे मिल रहे हैं। जिसे देखते हुए किसानों को उम्मीद है कि इस बार बारिश अच्छी होगी। हालांकि यह संकेत मौसम विभाग से भी मिल रहे हैं। बीते साल तो मानसून 15 जून से पहले ही सक्रिय हो गया था, लेकिन उसके बाद जब किसानों को पानी की जरूरत थी तो बारिश थम गई थी। ग्राम बुंदेली के बुजुर्ग रामखिलावन राठिया ने बताया कि नौतपा के तपने से अच्छी बारिश होती है और इससे धान की पैदावार बेहतर होती है। हर किसान की यह इच्छा होती है कि नौतपा तपे और अच्छी बारिश हो।ज्योतिषी पं. विवेकशील पाण्डेय के अनुसार नौतपा के कारण 9 दिनों तक भयंकर गर्मी होती है, लेकिन इस बार नौतपा न केवल तपेगा वरन बारिश, बादल व तेज हवाओं के बीच गुजरेगा। 31 मई को शुक्र के अपनी ही राशि वृषभ में अस्त होते ही सूरज के तेवर कुछ नरम पड़ जाएंगे। मौसम में अचानक तेजी से बदलाव दिख सकते हैं। जैसे तेज बारिश और तेज हवाएं चल सकती हैं। सूर्य जब पृथ्वी के सबसे निकट आ जाता है, तब नौतपा पड़ता है। इस दौरान सूर्य, मंगल, बुध का शनि से समसप्तक योग होने से धरती पर गर्मी बढ़ती है। हालांकि, इस बार नौतपा जल्दी खत्म होगा। 1 जून के बाद बारिश व तेज हवाओं के योग बन रहे हैं। 
जून में औसत तापमान 35 डिग्री के आसपास रहेगा
नौतपा के बाद सूर्य के ताप का उत्तरार्ध होता है। माना जाता है कि इस दौरान भीषण गर्मी होती है तो मानसून में अच्छी बारिश होने के आसार भी बनते हैं। लेकिन अगर तपन कम हो तो वर्षा योग भी सामान्य ही रहता है। ऐसे में 31 मई के बाद बारिश के योग हैं लेकिन जून माह में गर्मी से उतनी ज्यादा राहत मिलने के आसार कम ही हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना