सिंचाई के लिए नहरों में 15 दिन और छोड़ा जाएगा:बांगो बांध से छोड़ रहे 9 हजार क्यूसेक पानी, इतना ही नहरों में छोड़ रहे, बांध का जलस्तर पहुंचा 358 मीटर

कोरबा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

खरीफ फसल की सिंचाई के लिए नहरों में 15 दिन और पानी छोड़ा जाएगा। दायीं व बायीं तट नहरों में 3900-3900 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। इसके बाद गेट बंद कर दिए जाएंगे। रबी फसल के लिए जनवरी में पानी छोड़ने का निर्णय लिया गया है। बांगो बांध से 9 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। इसकी वजह से बांध का जलस्तर अब 358 मीटर पर पहुंच गया है। बांध में 90 प्रतिशत पानी का भराव है।

जिले में इस साल झमाझम बारिश हुई है। बावजूद इसके धान की फसल के लिए दीपावली तक पानी की जरूरत पड़ती है। इसकी वजह से ही दोनों नहरों में पानी छोड़ा जा रहा है। माह के अंत तक गेट बंद कर दिए जाएंगे। बांगो बांध में पर्याप्त पानी है। इस बार सितंबर के अंतिम सप्ताह में जलस्तर 359.32 मीटर तक पहुंच गया था। बांध की क्षमता 359.66 मीटर है। पानी की आवक को देखते हुए 358 मीटर पहुंचने के बाद गेट खोलकर पानी छोड़ने की नौबत आ जाती है। सितंबर में 3 दिनों तक तीन गेट खोलकर पानी छोड़ना पड़ा था। अक्टूबर में बारिश थम गई। इसकी वजह से पानी की डिमांड कम नहीं हुई है। बांध से दो लाख 45 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई होती है। इस बार पहले से ही रबी फसल के लिए जनवरी में पानी देने का निर्णय ले लिया गया है।

किसानों की डिमांड के अनुसार ही छोड़ रहे
पानी: एसडीओहसदेव दर्री बराज के एसडीओ एसएन साय ने बताया कि पानी की डिमांड के अनुसार ही छोड़ा जा रहा है। इस माह के अंत तक सिंचाई के लिए पानी दिया जाएगा। पानी की अभी कोई कमी नहीं है। जरूरत के हिसाब से अब किसानों को पानी उपलब्ध कराया जाएगा।

खबरें और भी हैं...