पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

परिजन ध्यान दें:अप्रैल के 5 दिन में 909 कोरोना केस में 123 बच्चे मिले संक्रमित

काेरबा4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • संक्रमितों में 10 साल के 62 और 11 से 17 वर्ष के 63 किशोर, इस संक्रमण की मुख्य वजह माता-पिता की लापरवाही

काेराेना की दूसरी लहर में बच्चे भी टार्गेट हाे रहे हैं। अप्रैल के शुरुआती महज 5 दिन में ही 909 कोराेना केस में 123 बच्चे संक्रमित हुए हैं। इनमें 1 से 10 साल की उम्र के 62 और 11 से 19 साल की उम्र के 63 किशाेर शामिल हैं। यह भी देखने में आ रहा है कि 1 से 10 साल के बच्चाें के माता या पिता भी काेराेना से संक्रमित मिल रहे हैं।

जानकाराें का कहना है कि बच्चाें में हाे रहा संक्रमण परिवार के सदस्याें की लापरवाही से हाेना एक बड़ा कारण है। कोरोना की दूसरी लहर से काेरबा में रिकार्ड ताेड़ केस सामने आ रहे हैं। इसमें जहां कामकाजी वे लाेग जाे 20 से 50 साल के उम्र के बीच के हैं, उनकी संख्या अधिक है। वहीं वाे युवा भी शामिल हैं, जाे घर के बाहर निकल रहे हैं। संक्रमिताें की 5 दिन की सूची काे जब विश्लेषित किया ताे बच्चाें में गंभीर हाेते काेराेना का पता चला। दिन-ब-दिन संक्रमित हाेने वाले बच्चाें की संख्या में बढ़ाेतरी हाे रही है। 1 अप्रैल काे 14, 2 काे 16, 3 काे 33, 4 काे 31 व 5 काे 48 बच्चे संक्रमित मिले। इनमें 1 से 5 साल के 28, 6-10 साल के 34 व 11-19 साल के 63 बच्चे हैं।

कोशिश करें बच्चों को घर से न निकलने दें
जिला अस्पताल के एमडी डाॅक्टर प्रिंस जैन का कहना है कि बच्चाें काे संक्रमण से बचाने बड़ाें काे ही ध्यान रखना हाेगा। हाेता यह है कि घर लाैटते ही हम बच्चाें काे दुलारने लगते हैं। ऐसा करने से बचें। पहले अपने हाथ सैनिटाइज करें और घर में भी कुछ दूरी बनाकर रखें। बच्चाें काे लेकर सार्वजनिक स्थान जैसे बाजार, गार्डन, मेले में जाते समय बहुत सावधानी बरतें। हाे सके ताे बच्चाें काे अभी कुछ दिन तक घर पर ही रखें।

बच्चों के प्रति रहें सतर्क, लक्षण दिखने पर जांच करें
वरिष्ठ चाइल्ड स्पेशलिस्ट डाॅ. हरीश नायक ने कहा कि बच्चाें के प्रति सतर्क रहें। बुखार या सर्दी-खांसी के लक्षण के अलावा डायरिया, चिढ़चिढ़ापन, खाना न खाना जैसे लक्षण हाे ताे सावधानी बरतें, जांच कराएं। अभी वैसे भी ए सिम्टाेमेटिक केस जादा आ रहे हैं। बच्चे माता-पिता की देखा-देखी करते हैं।

वायरस बच्चाें में ज्यादा फैल रहा, परिजन बरतें सावधानी
मेडिकल काॅलेज काेरबा के डीन डाॅ. वायडी बड़गैया ने कहा दूसरी लहर में वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। पिछली बार की तुलना में इस बार बच्चाें में वायरस ज्यादा फैल रहा है। मुख्य कारण यह है कि वायरस पहले से ज्यादा स्ट्रांग है और खुले की अपेक्षा बंद कमरे में ज्यादा फैलता है। इसलिए बाहर आवाजाही करने वाले परिजन बच्चाें काे संक्रमण से बचाने बाहर के साथ ही घर में जरूरी सावधानी बरतें।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने काम को नया रूप देने के लिए ज्यादा रचनात्मक तरीके अपनाएंगे। इस समय शारीरिक रूप से भी स्वयं को बिल्कुल तंदुरुस्त महसूस करेंगे। अपने प्रियजनों की मुश्किल समय में उनकी मदद करना आपको सुखकर...

    और पढ़ें