पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

औद्योगिक संस्थानाें के अफसरों के साथ वर्चुअल बैठक:कोयला खदानों और बिजली संयंत्रों के प्रवेश द्वार पर करनी हाेगा काेविड जांच की व्यवस्था

कोरबाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बैठक में राजस्व मंत्री व कलेक्टर। - Dainik Bhaskar
बैठक में राजस्व मंत्री व कलेक्टर।
  • संकट की घड़ी में औद्योगिक संस्थानों को अपनी जिम्मेदारी का रहे अहसास: जयसिंह

एसईसीएल की कोयला खदानों, सरकारी व निजी बिजली संयंत्रों सहित अन्य औद्योगिक संस्थानों के प्रवेश द्वार पर कोविड टेस्ट की व्यवस्था रहेगी। राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि कोरोना से उपजे संकट की घड़ी में औद्योगिक संस्थानों को अपनी जिम्मेदारी का एहसास होना चाहिए। कंपनी के कर्मचारियों की सुरक्षा के साथ ही प्रभावित क्षेत्रों में सामुदायिक जिम्मेदारियों का निर्वहन प्राथमिकता में होनी चाहिए।

कार्ययोजना बनाकर औद्योगिक संस्थान काम करें। शुक्रवार को राजस्व मंत्री ने एनटीपीसी, बालको, एसईसीएल गेवरा, दीपका, कुसमुंडा व कोरबा के महाप्रबंधकों की वर्चुअल बैठक ली। उन्होंने कहा कि एसईसीएल के गेवरा, दीपका व कुसमुंडा खदान क्षेत्र से जुड़े ग्रामीण अंचलों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं। संक्रमण की रोकथाम के लिए एसईसीएल प्रबंधन गंभीरता से जरूरी कदम उठाएं। औद्योगिक संस्थान अपने विभागीय अस्पतालों में एक-एक नग सीटी स्कैन मशीन, एक-एक नग 3 डी ईको मशीन, एक-एक नग कलर डॉपलर और एक-एक नग टीएमटी मशीनों जैसे गंभीर बीमारियों में जांच के लिए जरूरी उपकरणों स्थापित करें। कोरोना की रोकथाम में लापरवाही बरतने पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

जांच की व्यवस्था नहीं की तो कोल परिवहन बंद
बैठक में कलेक्टर ने एसईसीएल के अफसरों से दो टूक कहा कि खदानों के प्रवेश द्वार पर कोरोना जांच की व्यवस्था करें। अन्यथा प्रशासन कुछ समय के लिए सड़क मार्ग से कोयला का परिवहन मजबूरन बंद कर देगा। कोरोना जांच में निगेटिव रिपोर्ट आने पर ही कर्मचारियों को खदानों के भीतर अनुमति दी जानी चाहिए।

बालको में 100 बिस्तर का है कोविड हॉस्पिटल
बालको के प्रशासन प्रमुख अवतार सिंह ने बताया कि उनके संस्थान की विभागीय अस्पताल बालको में 100 बिस्तरों का अलग कोविड हॉस्पिटल हो गया है। 80 बिस्तर आक्सीजन बेडयुक्त है। 5 बेड आईसीयू में हैं। अगले 15 दिनों के भीतर आक्सीजन सुविधायुक्त 100 अतिरिक्त बेड की व्यवस्था रायपुर स्थित बालको मेडिकल सेंटर में कर ली जाएगी।

सीपेट को एनटीपीसी सौंपेगी सीटी स्कैन मशीन
कोरबा एनटीपीसी के समूह महाप्रबंधक विश्वरूप बासु ने बताया कि कंपनी ने कोरोना मरीजों के इलाज के लिए 32 बिस्तरों की अतिरिक्त व्यवस्था है, जिसमें 15 सामान्य, 15 ऑक्सीजन सपोर्टवाले और 2 आईसीयू बिस्तर उपलब्ध हैं। एनटीपीसी की ओर से जिला प्रशासन को स्याहीमुड़ी स्थित सीपेट अस्पताल में सीटी स्कैन मशीन सौंपी जाएगी।

एसईसीएल मेन हास्पिटल, सीआईटी में मरीजों का इलाज​​​​​​​
एसईसीएल गेवरा के महाप्रबंधक एसके मोहंती ने बताया कि एसईसीएल की मेन हॉस्पिटल मुड़ापार व सीआईटी गेवरा में कोरोना मरीजों का इलाज किया जा रहा है। इस पर राजस्व मंत्री ने कहा कि केवल इतनी व्यवस्था से ही काम नहीं चलेगा। खदान में काम कर रहे कर्मचारी व खदान प्रभावित क्षेत्र के लोग पूरी तरह सुरक्षित रहे इसके लिए जरूरी कदम उठाएं।

खबरें और भी हैं...