पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बदइंतजामी:क्वारेंटाइन सेंटर में जमीन पर सो रहे मजदूर की सांप के डसने से मौत, एक दिन बाद होनी थी छुट्‌टी

कोरबा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बारिश में सांप-बिच्छू का खतरा, सेंटरों में फर्श पर सुलाए जा रहे मजदूर

जिले के क्वारेंटाइन सेंटरों में अफसरों की लापरवाही कम नहीं हो रही है। इस बार लापरवाही ने एक मजदूर की जान ले ली। मामला पोड़ी-उपरोड़ा विकासखंड के लैंगी(पसान) स्थित क्वारेंटाइन सेंटर का है, जहां सोमवार रात में जमीन पर सो रहे मजदूर धन सिंह को सांप ने डस लिया और उसकी मौत हो गई। इसके बाद मंगलवार को प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी जागे। क्वारेंटाइन सेंटर प्रभारियों को प्रवासी मजदूरों को व्यवस्था होने पर ऊपर सुलाने को कहा गया है। साथ ही संबंधित क्षेत्र के थाना प्रभारियों को बिजली व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ क्वारेंटाइन सेंटरों का निरीक्षण कर वहां सुरक्षात्मक उपाय करने को कहा गया। वहीं क्वारेंटाइन सेंटर में सांप समेत जीव-जंतु के प्रवेश को रोकने के लिए ब्लीचिंग, फिनाइल व अन्य केमिकल के छिड़काव का विशेष निर्देश दिया गया है। वर्षा काल में जहां ऐसे क्वारेंटाइन सेंटरों के आसपास गाजर-घास उग गई है वहीं वहां सांप-बिच्छू का खतरा भी बढ़ गया है। बावजूद इसके ज्यादातर क्वारेंटाइन सेंटरों में लापरवाही बरती जा रही है।

जंगल के पास बनाया क्वारेंटाइन सेंटर
पसान थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत लैंगी में नवीन हाई स्कूल को क्वारेंटाइन सेंटर बनाया गया है। जो जंगल के नजदीक है। एक दिन पहले तक सेंटर में 49 मजदूर ठहरे थे। सभी नीचे फर्श पर सो रहे थे। जिनमें से 44 को छुट्टी दे दी गई थी। जब वहां धन सिंह समेत 5 लोग बचे तो उन्हें स्कूल की बैंच सोने के लिए दी गई थी। 

ऊपर तल, लेकिन प्रवासी मजदूर फर्श पर सोते हैं
पाली विकासखंड के नुनेरा में शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय को क्वारेंटाइन सेंटर बनाया गया है। जहां ऊपर तल में कमरे होने के बाद भी व्यवस्था नहीं होने से नीचे तल में प्रवासियों को फर्श पर बिछे गद्दे पर सोना पड़ता है। दूसरी ओर स्कूल परिसर भी खुले में है। जहां झाड़ियां उग गई हैं।

उपलब्ध कराई गई थी बैंच फिर भी मजदूर नीचे सोए 
पसान के लैंगी क्वारेंटाइन सेंटर के प्रभारी बीआर वाघमारे ने बताया कि धन सिंह समेत लैंगी गांव के 5 मजदूर झांसी (यूपी) से 1 जुलाई को वापस लौटे थे। स्कूल परिसर में अक्सर सांप निकलते हैं इसलिए उन्हें बैंच उपलब्ध करवाकर उसमें सोने के लिए कहा गया था। लेकिन धन सिंह समेत 3 लोग खुद ही फर्श पर सो गए थे और हादसा हो गया।

सर्पदंश से हुई प्रवासी मजदूर की मौत 
पसान थाना प्रभारी रामकुमार राणा के मुताबिक लैंगी क्वारेंटाइन सेंटर में घुसे करैत सांप ने देर रात 12.22 बजे फर्श पर सो रहे 3 धन सिंह के कान के पास डस लिया। जिसके बाद उसे पसान अस्पताल ले गए। एंटी स्नेक वेनम लगाने के बाद उसे पेंड्रा के सिनोटेरियम हॉस्पिटल रेफर किया गया। जहां देर रात 3.50 बजे उसकी मौत हो गई।

रिपोर्ट निगेटिव, मंगलवार को हो जाती छुट्टी
धन सिंह समेत 5 मजदूरों का कोरोना टेस्ट हुआ था। जांच के लिए सैंपल लेकर भेजा गया था। सोमवार को उनके 13 दिन पूरे हो गए थे। देर शाम धन सिंह समेत सभी की रिपोर्ट भी निगेटिव आई थी। मंगलवार को 14 दिन पूरे होने पर उन्हें छुट्टी मिलने वाली थी। घटना के बाद परिजनों ने क्वारेंटाइन प्रभारी पर लापरवाही का आरोप लगाया।

सीधी बात
रामगोपाल करियारे, डीएसपी व नोडल अधिकारी (सुरक्षा व्यवस्था)

सवाल - लैंगी क्वारेंटाइन सेंटर में सर्पदंश की घटना कैसे हुई?
-प्रवासी मजदूरों को बैंच उपलब्ध कराने के बाद भी उनके फर्श पर सोने के कारण सर्पदंश की घटना में एक की मौत हुई है। 
सवाल - क्वारेंटाइन सेंटरों में सुरक्षा के प्रति लापरवाही क्यों बरती जा रही है?
-पुलिस विभाग द्वारा क्वारेंटाइन सेंटरों में ठहरे लोगों की सुरक्षा पर पूरा ध्यान दिया जा रहा है। सेंटर प्रभारियों से भी लगातार संपर्क रखा जाता है।
सवाल - पड़ोसी जिलों में सर्पदंश की घटना हो चुकी है तो जिले के क्वारेंटाइन सेंटर में सांप-बिच्छू  घुसने से रोकथाम के उपाय क्यों नहीं किए गए हैं? 
-इस संबंध में पूर्व में क्वारेंटाइन सेंटर प्रभारियों को निर्देश दिया गया था। सोमवार की देर रात हुई घटना के बाद क्वारेंटाइन सेंटर समेत परिसर में सांप-बिच्छू समेत जंगली जानवर से सुरक्षात्मक उपाय के लिए विशेष निर्देश दिया गया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें