कोरोना में विवाद:काेविड अस्पताल में बिलिंग के विवाद पर संक्रमित के परिजन से मारपीट का आरोप, पाली थाने में शिकायत

काेरबा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भर्ती कराने के समय जमा कराए थे 20 हजार, लौटाने की बात पर घुमाते रहे अस्पताल के कर्मचारी

पाली स्थित निजी काेविड अस्पताल के कर्मचारी पर काेराेना संक्रमित मरीज के रिश्तेदार ने बिलिंग के विवाद पर मारपीट का आराेप लगाया है। इसकी लिखित शिकायत पाली थाना में की गई है। पुलिस मामले में जांच-पड़ताल कर रही है। जिले में शहरी क्षेत्र के बाहर एक मात्र पाली के निजी अस्पताल काे काेविड मरीजाें के इलाज की अनुमति मिली है, जहां कटघाेरा-पाली क्षेत्र के ज्यादातर काेविड मरीज भर्ती किए जा रहे हैं।

पाली निवासी धमेंद्र डिक्सेना के मुताबिक उनके मामा गिरिजा शंकर जायसवाल के काेराेना संक्रमित हाेेने पर साेमवार काे उक्त अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन वहां की व्यवस्था काे देखते हुए परिजन ने शाम काे ही उन्हें डिस्चार्ज करा लिया था।

भर्ती कराते समय अस्पताल प्रबंधन ने 2 दिन के फीस के हिसाब से 20 हजार रुपए एडवांस जमा कराए थे। इसलिए धमेंद्र डिक्सेना और गिरजा शंकर का बेटा तिलक जायसवाल बिलिंग के लिए पहुंचे। उनके मुताबिक अस्पताल के कर्मचारी बालकेश्वर श्रीवास्तव बाद में आने की बात कहकर घुमाता रहा। कई बार लाैटने के बाद मंगलवार काे उन्हाेंने बालेश्वर श्रीवास्तव से बिलिंग के संबंध में बात करते हुए 24 घंटे का बेड चार्ज काटकर बाकी पैसा वापस करने काे कहा।

इस बात पर उनके बीच विवाद हाे गया। बाद में धमेंद्र डिक्सेना और तिलक ने पाली थाना पहुंचकर घटना की लिखित शिकायत की। दूसरी ओर अस्पताल प्रबंधन ने आराेप काे नकारते हुए कहा कि अस्पताल के कर्मचारी से जबरन विवाद किया गया। बाद में झूठी शिकायत की गई है। पाली थाना प्रभारी लीलाधर राठाैर के मुताबिक मामले में जांच-पड़ताल की जा रही है।

खबरें और भी हैं...