पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अभी संगठनाें में शामिल मुद्दाें पर चर्चा:हस्ताक्षर कर चारों यूनियन कोल सचिव काे साैंपेंगे चार्टर ऑफ डिमांड

काेरबा17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नेशनल काेल वेज एग्रीमेंट के लिए चाराें केद्रीय यूनियनाें ने बनाया है संयुक्त मांग पत्र

जेबीसीसीआई-11 की गठन की घाेषणा के साथ ही यूनियनें अपनी मांगाें काे अंतिम रूप देने में जुटी हैं। वेज रिवीजन व अन्य सुविधाओं से संबंधित काॅमन चार्टर्ड ऑफ डिमांड तैयार करने वाले संगठन बीएमएस, एचएमएस, एटक व सीटू ने तय कर दिया है।

इसमें तय किया है कि काॅमन चार्टर्ड ऑफ डिमांड काे हस्ताक्षर करने के बाद 10 जून काे काेयला सचिव काे साैंप देंगे। ड्राफ्ट पर चाराें यूनियनाें के प्रतिनिधियाें के हस्ताक्षर हाेंगे। काेल इंडिया चेयरमैन काे भी चार्टर ऑफ डिमांड की एक प्रति भेजी जाएगी। श्रमिक नेताओं का कहना है कि तैयार किए गए ड्राफ्ट काे अन्य यूनियनाें काे भेजा गया है। इसमें काेयला कर्मियाें के हिताें से जुड़े करीब 90 मुद्दाें काे शामिल किया गया है। जिसमे 50 फीसदी वेतन बढ़ोत्तरी व अन्य सुविधाओं की मांग शामिल है।

डिमांड को लेकर आपस में यूनियनों की चर्चा चल रही हैं, सुझाव भी दे रहे हैं। काेई जरूरी मुद्दा छूट गया हाेगा, ताे उसे चर्चा कर ड्राफ्ट में शामिल किया जाएगा। जेबीसीसीआई गठन व बैठक काे लेकर जहां यूनियन अपनी तैयारी कर रहे हैं ताे वहीं दूसरी तरफ काेल इंडिया ने भी बैठकाें में शामिल हाेने के लिए अधिकारियाें की सूची तैयार करना शुरू कर दिया है। जेबीसीसीआई की पहली बैठक 15 जून काे संभावित है।

सीटू, एटक के बाद बीएमएस और एचएमएस की तैयारी
सीटू के जेनरल सेक्रेटरी डीडी रामानंदन, निरसा के पू्र्व विधायक अरुप चटर्जी और सुजीत भट्टाचार्या काे मुख्य सदस्य, जेएच साैरी, सरफराज वी और नरसिंहा राव काे वैकल्पिक सदस्य के रूप में रखा है। एटक में राष्ट्रीय अध्यक्ष रमेंद्र, वी सीतारमण व अारसी सिंह मुख्य सदस्य, लखनलाल महताे, हरिद्वार सिंह व ए चक्रवर्ती के नाम विकल्प के ताैर पर हैं। अब बीएमएस और एचएमएस भी सूची अंतिम रूप देने में लगे हैं। बीएमएस से लक्ष्मणा रेड्डी, सुरेंद्र पांडेय, सुधीर घुरडे के नाम लगभग तय हैं, चाैथे नाम पर विचार चल रहा है। वहीं एचएमएस से नाथूलाल पांडेय, एसके पांडेय का नाम भी तय है। हालांकि जेबीसीसीआई-10 में शामिल सदस्याें में कुछ बदलाव के पक्ष में भी हैं। आज-कल में अपने प्रतिनिधियाें की सूची फाइनल हाेने की उम्मीद है।

यूनियनाें के प्रतिनिधित्व के लिए 18 सीटें हैं
इंटक के तीनाें गुटाें रेड्डी गुट, तिवारी व ददई गुट का विवाद काेर्ट में हाेने से ही इंटक से काेल इंडिया ने सूची नहीं मांगी है। वैसे जेबीसीसीआई-11 में पांचाें केंद्रीय यूनियनाें के प्रतिनिधित्व के लिए 18 सीटें रखी हैं। इनमें बीएमएस, एचएमएस और इंटक के लिए 4-4 व एटक व सीटू के लिए 3-3 सीटें तय हैं। एटक व सीटू अपने प्रतिनिधियाें की सूची पहले ही काेल इंडिया काे साैंप चुकें है।

इंटक विवाद नहीं सुलझा फिर रह सकता है बाहर
काेयला क्षेत्र में इंटक के तीन गुटाें के बीच विवाद चल रहा है। मामला अब तक नहीं सुलझा है। इससे कयास लगाए जा रहे हैं कि शायद इस बार भी इंटक बाहर ही रहेगा। प्रबंधन के साथ पहले से ही चार संगठन वार्ता कर रहे हैं। इस बीच इंटक के संजीवा रेड्डी ने अपने संगठन की ओर से काेल इंडिया चेयरमैन काे नाम भेज दिए हैं। सूची में जयमंगल उर्फ अनूप सिंह, इंटक के सेक्रेटरी एसक्यू जामा, सुभांगया प्रधान व सचिव ललन चाैबे के नाम शामिल हैं। वैकल्पिक सदस्याें में पीके राय, बी जनक प्रसाद, चांदी बनर्जी व वीरेंद्र सिंह बिष्ट के नाम हैं।

खबरें और भी हैं...