पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

घबराएं नहीं, डटकर करें मुकाबला:काेराेना बेकाबू; लेकिन ये अच्छी खबर 29 हजार लाेगाें ने घर में रहकर जीती जंग

काेरबा11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • समय पर टेस्टिंग हाेने से संक्रमित हाेने का पता चला, शुरुआती लक्षण में इलाज और निगरानी से समय पर हाे गए स्वस्थ
  • 41,394 केस में 32 हजार मरीज स्वस्थ, 7699 हाेम आइसाेलेट

जिले में लाॅकडाउन के 3 सप्ताह बीतने के बाद भी काेराेना संक्रमण की स्थिति बेकाबू है। प्रतिदिन 1 हजार से ज्यादा नए केस मिल रहे हैं। वहीं प्रतिदिन औसतन 15 लाेगाें की माैत हाे रही है। काेराेना संक्रमण काे लेकर लाेगाें में घबराहट है, लेकिन सुखद यह है कि काेराेना संक्रमण के अब तक कुल संक्रमित 41 हजार से अधिक मरीजाें में 29 हजार लाेग हाेम आइसाेलेट रहकर घर पर ही स्वस्थ हाे गए हैं। ये ऐसे मरीज थे, जाे ए-सिंप्टाेमैटिक थे, अर्थात बिना लक्षण या हल्के लक्षण वाले।

दरअसल ऐसे लाेगाें का समय पर काेविड टेस्ट कराने से काेराेना संक्रमित हाेने का पता चला। हाेम आइसाेलेट शुरुआती लक्षण से इलाज शुरू हुआ, जिसका नतीजा यह रहा कि मरीजाें की तबियत गंभीर नहीं हुई और 7 से 10 दिन के भीतर स्वस्थ हाे गए। हाेम आइसाेलेशन की रिकवरी रेट जहां 70 प्रतिशत से ज्यादा है, ताे डेथ रेट बिल्कुल न के बराबर है। अब तक जिले में 523 काेराेना मरीजाें की माैत हाे गई है, लेकिन इनमें से 6 मरीज ने ही हाेम आइसाेलेशन में दम ताेड़ा है। बाकी सभी की मौत अस्पतालाें में हुई है।

कोविड अस्पताल में महज 701 कोरोना संक्रमित भर्ती
जिले में अभी कुल एक्टिव केस 8400 हैं। इनमें से 7699 मरीज हाेम आइसाेलेशन में रहकर इलाज करा रहे हैं। काेविड अस्पतालाें में महज 701 मरीज भर्ती हैं। उसमें करीब 5 साै अाॅक्सीजन बेड में हैं। अस्पतालाें में अब तक 42 साै मरीज भर्ती हाे चुके हैं, जिसमें 3 हजार से अधिक ठीक हाेकर डिस्चार्ज हाे चुके हैं। वहीं 517 मरीजाें की माैत हुई है।

स्वास्थ्य विभाग की सतर्कता से लोगों को मिल रही राहत

काेविड अस्पतालाें में अब नहीं रही बेड की कमी
प्रशासन के प्रयास और औद्याेगिक उपक्रमाें के सहयाेग से काेविड अस्पतालाें की संख्या के साथ ही बेड की बढ़ाेतरी हुई। इससे वर्तमान में काेविड के इलाज के लिए 10 अस्पताल हैं और बेड 14 साै से अधिक। मंगलवार की स्थिति में कुल 1420 बेड में 719 खाली हैं। 439 ऑक्सीजन में 52 खाली हैं, जबकि 29 वेंटिलेटर बेड में सभी भरे हुए हैं। 51 एचडीयू बेड में 49 मरीज व 56 आईसीयू बेड में 54 में मरीज भर्ती हैं।

प्रशासन के प्रयास से राहत, हाैसला बढ़ा
बालकाेनगर के हाउसिंग बाेर्ड काॅलाेनी के बैंक मैनेजर हरीश शर्मा 15 अप्रैल काे संक्रमित मिले थे। उन्हाेंने बताया सामान्य सर्दी-खांसी आने पर उन्हाेंने जिला अस्पताल में काेविड टेस्ट कराया। रिपाेर्ट आने पर उन्हें हाेम आइसाेलेट हाेने कहा। घर में ही अलग कमरे में वह रहने लगे। पत्नी व बच्चाें काे वे कांच की खिड़की से देखते और माेबाइल से बात करते, इससे वे तनाव से दूर रहे। 10 दिन में वे स्वस्थ हाे गए हैं।

शुरुआती लक्षण में बेहतर निगरानी से रिकवरी जल्दी
कलेक्टर किरण काैशल के मुताबिक शुरुआती लक्षण में काेविड टेस्ट कराने वाले मरीजाें की रिकवरी जल्द हाेती है। अधिकांश मरीजाें काे अस्पताल में भर्ती हाेने की जरूरत नहीं पड़ती। हाेम आइसाेलेशन में रहकर वे ठीक हाे जाते हैं। ऐसे मरीजाें काे मेडिकल किट उपलब्ध कराने के साथ ही डाॅक्टर की नियुक्ति और बेहतर निगरानी से काेविड मरीज जल्दी रिकवरी कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें