बड़ा हादसा टला:मालगाड़ी इंजन के 4 पहिए हुए डिरेल ट्रैक से ढाई घंटे तक काेल डिस्पैच बंद

काेरबाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कुसमुंडा साइडिंग में करीब साढ़े 11 बजे तक रेलवे के तकनीकी अमले काे इंजन को पटरी पर लाने में कामयाबी मिल गई थी। - Dainik Bhaskar
कुसमुंडा साइडिंग में करीब साढ़े 11 बजे तक रेलवे के तकनीकी अमले काे इंजन को पटरी पर लाने में कामयाबी मिल गई थी।

जिले के गेवरा रेल सेक्शन के कुसमुंडा कोल साइडिंग में शुक्रवार काे एक मालगाड़ी के इंजन के चार पहिए डिरेल हाे गए हो गए। यह घटना सुबह 9 बजे के लगभग हुई। इसकी जानकारी मिलते ही रेलवे अधिकारियाें में हड़कंप मच गया।

सूचना मिलने के बाद रेलवे का तकनीकी अमला माैके पर पहुंचा और मालगाड़ी के जिस ट्रैक पर इंजन के पहिए डिरेल यानी पटरी से उतरे थे उसे ट्रैक पर लाने की काेशिश शुरू हुई। इसके कारण करीब ढाई घंटे तक संबंधित ट्रैक से मालगाड़ी के जरिए काेल डिस्पैच प्रभावित रहा। रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स के एक अधिकारी के अनुसार माैके पर स्लरी अधिक होने के चलते घटना हाेने का अनुमान लगाया जा रहा है। कुसमुंडा साइडिंग में करीब साढ़े 11 बजे तक रेलवे के तकनीकी अमले काे इंजन को पटरी पर लाने में कामयाबी मिल गई थी। बता दें कि बिजली प्लांटाें में काेल संकट के बीच ज्यादा से ज्यादा रैक काेल सप्लाई की काेशिश की जा रही है। इस बीच ये घटना हाेने से अधिकारियाें के माथे पर चिंता की लकीरें छा गई थीं। इंजन के पटरी के आने के बाद राहत मिली।

खबरें और भी हैं...