पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जांच:6 स्टापडेम की जांच पूरी, 3 टूटे हुए मिले मरम्मत में ही लगेंगे 8 से 10 लाख रुपए

कोरबा12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जटगा वन परिक्षेत्र में कैंपा मद से 12 स्टापडेम का कराया है निर्माण, अफसर बोले- जिम्मेदारों से होगी वसूली

कटघोरा वन मंडल के जटगा परिक्षेत्र में कैंपा मद से बनाए गए स्टाप डेम की जांच पूरी कर ली गई है। 6 स्टापडेम में से 3 जर्जर हालत में मिले। इसकी मरम्मत में ही 8 से 10 लाख रुपए खर्च आएगा। जांच टीम ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। अब आगे की कार्रवाई होनी बाकी है। दूसरी ओर अफसरों का कहना है कि जिम्मेदार अफसरों से वसूली की कार्रवाई हो सकती है। जटगा रेंज में कैंपा मद से दो साल पहले स्टापडेम निर्माण की मंजूरी मिली थी। यह मामला विधानसभा में भी उठा था। इसके बाद डीएफओ शमा फारूकी ने जांच टीम बनाई थी, जिसमें पाली एसडीओ यदुनाथ डडसेना, कटघोरा एसडीओ प्रहलाद यादव, केंदई रेंजर एके चौबे, जटगा रेंजर अविनाश एमानवेल शामिल थे। जांच में पाया गया कि सोढ़ी नाले में बने तीन स्टापडेम का स्ट्रक्चर जर्जर हो गया है। इसकी मरम्मत कराने की जरूरत है। निर्माण कार्यों में भी लापरवाही बरती गई है। हालांकि अभी पूरा भुगतान नहीं किया गया है। जांच के बाद टीम ने अपनी रिपोर्ट डीएफओ को सौंप दी है।

छड़ भी गायब, मटेरियल पूरा नहीं लगाया
जांच टीम ने यह भी पाया कि स्टापडेम के निर्माण में छड़ के साथ मटेरियल की गुणवत्ता सही है कि नहीं। इसकी वजह से नीचे का हिस्सा बह गया है। उसे फिर से बनाना पड़ेगा। लंबाई व उंचाई ठीक मिली। लेकिन गुणवत्ता ठीक नहीं होने से आगे स्टापडेम टिक नहीं पाएगा।

2 रेंजर बदले, 2 लाख मजदूरी भुगतान बाकी
जटगा रेंज में पहले रेंजर मोहर सिंह मरकाम थे। उनके ही कार्यकाल में स्टापडेम का निर्माण कराया गया है। मरकाम का तबादला पहले ही हो चुका था। अब नए रेंजर अविनाश के एमानवेल का भी तबादला हो चुका है। दूसरी ओर जांच में पाया गया कि अब तक दो लाख रुपए मजदूरी का भुगतान ही नहीं किया गया है।

24 से 25 लाख खर्च बताया पर उतना हुआ नहीं
सोढ़ी नाला में क्रमांक एक की लागत 31 लाख, क्रमांक दो की लागत 39 लाख 92 हजार व क्रमांक तीन की लागत 41 लाख रुपए है। तीनों में ही 24 से 25 लाख रुपए खर्च होना बताया था। लेकिन उतना खर्च नहीं किया गया है। तीनों ही स्टापडेम के नीचे हिस्से में मिट्‌टी को हटाकर पटल को फिर से बनाना पड़ेगा। गौरतलब है कि निर्माणकार्यों में भी लापरवाही बरती गई है।

जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ होगी कार्रवाई
बिलासपुर के मुख्य वन संरक्षक नाबिद शुजाउ्दीदन का कहना है कि जांच रिपोर्ट ली जा रही है। डीएफओ को मिल गई होगी। मूल रिपोर्ट मिलने के बाद दोषी के खिलाफ कार्रवाई करते हुए वसूली की कार्रवाई की जाएगी। दोषियों को बक्शा नहीं जाएगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

    और पढ़ें