डाक विभाग ने कबाड़ी को बेचे आधार कार्ड:नाप-तौल विभाग के छापे में पकड़े गए; अफसर बोले- नहीं बेची रद्दी, कर्मचारियों से जवाब तलब

​​​​​​​कोरबा5 महीने पहले

छत्तीसगढ़ के कोरबा में डाक विभाग का बड़ा कारनामा सामने आया है। विभाग ने लोगों को बांटने के लिए आए उनके आधार कार्ड कबाड़ी को बेच दिए। जब नाप-तौल विभाग की टीम ने एक कबाड़ी की दुकान में शनिवार को छापा मारा तो इसका पता चला। इसके बाद आधार कार्ड जब्त कर संबंधित लोगों को दिया जा रहा है। अब अफसर मामले में जांच कर कार्रवाई की बात कह रहे हैं। इसे लेकर सभी पोस्टमैन को नोटिस दे स्पष्टीकरण मांगा गया है।

दरअसल, शहर में दो दिनों से नाप-तौल विभाग की कार्रवाई चल रही है। इसी के चलते टीम ने शनिवार को राताखार स्थित एक कबाड़ी दुकान में छापा मारा। जांच के दौरान टीम को वहां बड़ी मात्रा में आधार कार्ड पड़े दिखाई दिए। इस पर टीम ने आधार कार्ड जब्त कर लिए। पूछताछ में पता चला कि इन्हें अलग-अलग और छोटे कबाड़ियों को बेचा गया था। उनसे बड़े कबाड़ी तक पहुंचे। इन आधार कार्ड की संख्या करीब 150 से 200 है।

कर्मचारियों को भेजा गया नोटिस।
कर्मचारियों को भेजा गया नोटिस।

नाप-तौल विभाग ने धारक को सौंपे आधार कार्ड
नाप-तौल विभाग ने आधार कार्ड जब्त कर लिए, लेकिन इन्हें डाक विभाग को लौटाने की जगह उनके मालिक को सौंपना ज्यादा ठीक माना गया। ऐसे में टीम ने उसमें दर्ज पते के आधार पर लोगों से संपर्क किया और उन्हें उनके आधार कार्ड सौंपने का काम शुरू कर दिया है। इस संबंध में डाक विभाग के अफसरों को भी जानकारी दे दी गई है। फिलहाल अभी तक यह सामने नहीं आ सका है कि इतनी बड़ी संख्या में आधार कार्ड कबाड़ी तक कैसे पहुंचे।

मुख्य डाक घर पोस्टमास्टर विजय दुबे।
मुख्य डाक घर पोस्टमास्टर विजय दुबे।

तीन दिन में कर्मचारियों से मांगा गया स्पष्टीकरण
पहले इस बात की आशंका थी कि डाक विभाग से बेची गई रद्दी के साथ यह आधार कार्ड भी गलती से चले गए होंगे, लेकिन अफसरों ने ही इस बात को नकार दिया है। मुख्य डाक घर पोस्टमास्टर विजय दुबे ने बताया कि विभाग की ओर से कोई भी रद्दी कबाड़ी को नहीं बेची गई है। इस मामले की जांच कर रहे हैं कि आधार कार्ड वहां तक कैसे पहुंचे। इस संबंध में सभी पोस्टमैन और कर्मचारियों को नोटिस देकर तीन दिन में स्पष्टीकरण मांगा गया है।

खबरें और भी हैं...