पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वर्चुअल आदेश:छत्तीसगढ़ शिक्षक संघ ने भी डीईओ के खिलाफ सौंपा कलेक्टर को ज्ञापन

काेरबाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आइसोलेशन में रहने वाले शिक्षकों को भी ड्यूटी करने प्राचार्यों को दिए थे निर्देश

जिला शिक्षा अधिकारी के वर्चुअल आदेश को लेकर शिक्षकों की नाराजगी अभी दूर नहीं हुई है। गुरुवार के बाद शुक्रवार को भी कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर विरोध जताया। दूसरी ओर प्राचार्य अभी भी आइसोलेशन में रह रहे शिक्षकों की ड्यूटी लगाने से पीछे नहीं हैं। जबकि ऐसे शिक्षक अब अपने संस्था प्रमुख की खिलाफत करना शुरू कर दिए हैं।

लेकिन डीईओ अब अपने ही दिए वर्चुअल आदेश से बचते नजर आ रहे हैं। छत्तीसगढ़ शिक्षक संघ ने जिला शिक्षा अधिकारी सतीश पाण्डेय के मौखिक आदेश के विरोध में व शिक्षकों के स्कूलों में अव्यवहारिक उपस्थिति के संबंध में जिलाध्यक्ष तरुण सिंह राठौर के नेतृत्व में कलेक्टर किरण कौशल को ज्ञापन सौंपा। जिला सचिव मानसिंह राठिया ने बताया कि डीईओ द्वारा 4 मई को प्राचार्यों के वर्चुअल वेबिनार में मौखिक निर्देश दिया गया है, जो उचित नहीं है। पूरे प्रदेश में शिक्षक संवर्ग बिना सुरक्षात्मक सुविधा के फ्रंट वारियर के रूप में पूरी निष्ठा, ईमानदारी के साथ सेवा दे रहे हैं। शिक्षा विभाग के मुखिया के ऐसे मौखिक निर्देश से शिक्षक संवर्ग व्यथित है तथा शारीरिक एवं मानसिक तनाव का अनुभव कर रहे हैं। प्रतिनिधिमंडल ने मामले में कलेक्टर को स्वतः संज्ञान में लेते हुए शिक्षक संवर्ग को राहत प्रदान करने का आग्रह किया है।

3 दिन से कर रहा था ड्यूटी रिपोर्ट आई पॉजिटिव
शिक्षक इतने सहमे हुए हैं कि संक्रमित होने की पुष्टि होते तक ड्यूटी निभा रहे हैं। डीईओ कार्यालय में एक शिक्षक 3 दिन से ड्यूटी कर रहा है, जिसकी रिपोर्ट 6 मई को पॉजिटिव आई है। संक्रमण होते हुए भी वह ड्यूटी करता रहा। उन्हें टेस्ट कराने के साथ ही आइसोलेट हो जाना था और निगेटिव रिपोर्ट मिलने पर ड्यूटी करनी थी, पर ऐसा नहीं किया गया।

आज भी नहीं मिली शिक्षकों को राहत
आइसोलेशन में रहने वाले शिक्षकों को आज भी विभाग की ओर से राहत नहीं दी गई। सामान्य व्यक्ति के लिए यह अपराध माना गया है लेकिन शिक्षा विभाग के लिए यह कानून लागू नहीं है। इससे प्रशासन की नीति भी समझ नहीं आ रहीं। ऐसे शिक्षक शुक्रवार को भी प्राचार्यों के निर्देश पर मजबूरी में ड्यूटी करने पहुंचे थे।

खबरें और भी हैं...