काेयला संकट:पहले 35 रैक काेयला रोज भेज रहे थे, अब 22 रैक ही कर पा रहे डिस्पैच

काेरबा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गेवरा साइडिंग से 13, कुसमुंडा ओल्ड व न्यू साइडिंग से 9 रैक काेयला जा रहा है, बारिश में काेयला उत्पादन प्रभावित

सामान्य दिनाें में पहले गेवरा, दीपका व कुसमुंडा परियाेजना की साइडिंग से 35 या इससे ज्यादा रैक भी काेयला डिस्पैच किया जा रहा था, लेकिन काेयला संकट के बीच वर्तमान में प्रत्येक दिन किसी तरह से 20-22 रैक तक ही काेयले का डिस्पैच हाे पा रहा है।

मानसून, खदान विस्तार में देरी, भू-विस्थापिताें के मुद्दे व अन्य कारणाें से एसईसीएल के जिले में स्थित मेगा परियाेजना कुसमुुंडा, दीपका और गेवरा खदान में काेयला उत्पादन पर खासा असर पड़ा है। इससे उबरने में कुछ समय और लग सकता है। दूसरी तरफ बुधवार काे काेयला संकट के बीच केंद्रीय काेयला मंत्री प्रह्लाद जाेशी के एसईसीएल की परियाेजना में दाैरा और समीक्षा बैठक के बाद उत्पादन में तेजी आने की उम्मीद बढ़ी है। इससे काेयला डिस्पैच भी बढ़ेगा। हालांकि वर्तमान में पावर प्लांटाें के सामने संकट पूरी तरह से टला नहीं है।

मंत्री का दाैरा: उत्पादन व डिस्पैच दाेनाें बढ़ाने की काेशिश में जुटे अफसर

नान पावर सेक्टर काे काेयला नहीं देने संबंधी बात भ्रामक: एसईसीएल
प्लांटाें काे काेयला सप्लाई के लिए रैक उपलब्ध कराने के संबंध में रेलवे काे पत्र जारी किए गए सूचना में 19 प्लांटाें के नाम हैं। पत्र में नान पावर सेक्टर प्लांट काे अगले आदेश तक काेयला आपूर्ति नहीं करने का उल्लेख है। इस संबंध में एसईसीएल के पीआरओ सनीश चंद्र द्वारा जारी बयान कर कहा कि एसईसीएल के लिए पॉवर नान-पॉवर व अन्य सभी उपभोक्ता एक समान हैं। कंपनी सभी को आवश्यकता के हिसाब से कोयला आपूर्ति के लिए प्रतिबद्ध है। उन्हाेंने नान पावर सेक्टर काे काेयला नहीं दिए जाने की बात काे भ्रामक बताया है।

तीनाें परियाेजनाओं की विस्तृत समीक्षा, तेजी से उत्पादन बढ़ाने के निर्देश
काेयला मंत्री ने कुसमुंडा, दीपका व गेवरा माइंस का अवलाेकन करने के बाद करीब दाे घंटे तक काेल इंडिया चेयरमैन प्रमाेद अग्रवाल, सीएमडी एपी पंडा व तीनाें काेल प्रोजेक्ट के जीएम व कलेक्टर, एसपी की माैजूदगी में बैठक ली। काेयला मंत्री एक-एक कर तीनाें खदान के अधिकारियाें से काेयला उत्पादन में आ रही अड़चनों के पीछे का कारण जाना। प्रभावितों के मुद्दे, विस्तार में परेशानी व ठेका क‌ंपनियों के खराब परफार्मेंस पर तत्काल एक्शन लेने के निर्देश दिए। काेयला उत्पादन बढ़ाने के लिए जिला प्रशासन के काे भी सांमजस्य बनाने के निर्देश दिए।

खबरें और भी हैं...