पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हाथियों का आतंक:हाथियों ने समलाई गांव में रात भर मचाया उत्पात, 6 मकान तोड़े, धान, चावल खा गए

कोरबाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पसान की घटना, ग्रामीण पहले ही सुरक्षित जगह चले गए इसलिए बची जान

वन मंडल कटघोरा के पसान परिक्षेत्र में घूम रहे तीन हाथियों ने ग्राम पंचायत पिपरिया के समलाई गांव में गुरुवार रात जमकर उत्पात मचाया। हाथी 6 ग्रामीणों के मकानों को तोड़कर धान व चावल खा गए। साथ ही सामान भी क्षतिग्रस्त कर दिया। हाथियों के आने के पहले ही ग्रामीण सुरक्षित स्थान पर चले गए थे।

इसलिए जनहानि नहीं हुई। ग्रामीण सुबह गांव पहुंचे तो मकान टूटे मिले। वन मंडल में 45 हाथियों का झुंड घूम रहा है। इसमें से अलग होकर 3 हाथी उत्पात मचा रहे हैं । ग्राम सिमरिया में गुरुवार रात हाथी पहुंचे तो ग्रामीण इसके पहले ही परिवार समय सुरक्षित स्थान पर चले गए थे। वन विभाग ने ग्रामीणों को पक्के मकानों में जाने की सलाह दी थी। इसकी वजह से जनहानि नहीं हुई। हाथियों ने शिवराम, हीरा सिंह मरावी, शिवरतन, तुलसी नेटी, प्रेम सिंह नेटी के मकान को तोड़ दिया। यहां रखे धान, चावल के साथ ही सामान को नुकसान पहुंचाया। ग्रामीणों ने इसकी सूचना वन विभाग को दी तो अमला मौके पर पहुंचा। ग्रामीणों ने बताया कि इसके पहले भी हाथी आ चुके हैं। डर के कारण रतजगा करना पड़ता है। डिप्टी रेंजर एसएस तिवारी का कहना है कि हाथियों की निगरानी की जा रही है। जिस गांव की ओर जाने की जानकारी मिलती है, वहां के ग्रामीणों को पहले से ही अलर्ट कर दिया जाता है।

खबरें और भी हैं...