पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

10 फीसदी तक बढ़ी लागत:निगम के जोन स्तर के कर्मियों के लिए बन रहे आवास का काम समय पर शुरू नहीं हुआ

कोरबाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बालको में बने आवास अब खंडहर होने लगे, ठेकेदार ने नहीं किया हैंडओवर10 फीसदी तक बढ़ी लागत }बालको में बने आवास अब खंडहर होने लगे, ठेकेदार ने नहीं किया हैंडओवर

नगर निगम की कई योजनाएं समय पर शुरू नहीं हो पाती। इसकी वजह से लागत बढ़ती जाती है। 3 साल पहले जोन स्तर पर कर्मचारियों के रहने के लिए आवास बनाने की योजना बनाई गई थी, लेकिन पोड़ीबहार में काम शुरू नहीं हुआ। इससे लागत बढ़ती जा रही है। बालको में 15 आवासों का निर्माण कराया गया है, लेकिन उसका आवंटन नहीं हो पाया है। इससे कर्मचारियों को मुख्यालय से ही आवाजाही करनी पड़ती है। निगम के दर्री, बांकीमोंगरा, बालको, शहर से 15 से अधिक किलोमीटर की दूरी पर हैं। दर्री अाैर बांकी में आवास का निर्माण कराया गया है, लेकिन यहां के कर्मचारी मरम्मत नहीं होने पर परेशान हैं। यही समस्या निगम काॅलोनी के कर्मचारी आवासों की भी है। कई जगह सीपेज होने की शिकायत करते रहते हैं। आवासों का आवंटन समिति करती है।

उपनगरीय क्षेत्रों तक आने-जाने में लगता है समय
कर्मचारियों का कहना है कि उपनगरीय क्षेत्रों में आवाजाही में समय लगता है। बेहतर सुविधा मिले तो परेशानी दूर हो सकती है। अभी बांकी, दर्री, एमपीनगर अाैर पोड़ीबहार में और भी आवासों का निर्माण कराना है। जिम्मेदार अफसर कर्मचारियों को इस ओर ध्यान देने की जरूरत है।

बांकीमोंगरा व दर्री में बनाए गए हैं 15-15 आवास
बांकीमोंगरा में कर्मियों के लिए 15 आवासों का निर्माण कराया है। इसमें 1 करोड़ 17 लाख खर्च किए गए हैं। उसकी मरम्मत और देखरेख के लिए 33 लाख का प्रावधान रखा है। इसी तरह दर्री में भी 1 करोड़ की लागत से 15 आवासों का निर्माण कराया गया है, लेकिन कर्मचारियों का कहना है कि सीपेज की समस्या से परेशान हैं।

कई कर्मचारी स्वयं के मकान में रह रहे
निगम के अधिकारियों के साथ कई कर्मचारी अपने निजी आवासों में रहते हैं। पहले निगम काॅलोनी में कर्मचारियों के लिए बने आवासों में एक कमरे का विस्तार किया जा रहा है, लेकिन इसकी प्रक्रिया भी अभी अधूरी है। कर्मचारियों का कहना है कि आवास पर शासन को ध्यान देना चाहिए।

पोड़ीबहार गार्डन में बनेगा फ्लैट, प्रक्रिया शुरू नहीं
निगम ने पोड़ीबहार गार्डन के पास सफाई कर्मचारियों के लिए आवास बनाने एक करोड़ का प्रावधान किया था, लेकिन प्रक्रिया ही शुरू नहीं हो पाई। अब उसकी लागत एक करोड़ 10 लाख रुपए तक हो गई है। इसी तरह पोड़ीबहार में कर्मचारियों के लिए 100 फ्लैट बनाने का प्रावधान है। उसकी भी लागत एक करोड़ 10 लाख रुपए पहुंच गई है।

पहले बने थे आवास, अभी कोई योजना नहीं: एसई
नगर निगम के अधीक्षण अभियंता ग्यास अहमद का कहना है कि जोन स्तर पर पहले आवासों का निर्माण कराया गया है। अभी कोई योजना नहीं है। जो आवास बन रहे थे उसका काम पूरा हो गया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें