नो-रूम के हालात:ट्रेनों में बढ़ी भीड़, एसी और स्लीपर कोच में नहीं मिल रहे बर्थ

काेरबा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिसंबर में कहीं घूमने जाना चाहते हैं तो अभी से करा लें टिकटों की बुकिंग

यात्री ट्रेन पूर्व की तरह नियमित नंबर व नियमित किराए के साथ चलने लगी हैं। स्पेशल का तमगा इन ट्रेनों से हटते ही दिसंबर माह में लंबी दूरी की यात्रा करने वाले लोग अपनी टिकट अभी से बुक कराने लगे हैं। जिसके कारण अधिकांश ट्रेनों में एक सप्ताह बाद नो-रूम की स्थिति बन गई है। क्रिसमस व ग्रीष्मकालीन अवकाश के साथ ठंडी में हिल स्टेशनों की सैर करने के शौकीन बड़ी संख्या में लोग बाहर घूमने जाते हैं।

यही कारण है कि कोविड स्पेशल ट्रेनों के सामान्य होने का फायदा उठाते हुए लंबे समय से बाहर नहीं जा पाने वाले लोग ट्रेनों में अपनी टिकट बुकिंग कराने लगे हैं। जानकारों की मानें तो अगर आप भी 15 दिसंबर के बाद कहीं बाहर घूमने जाना चाहते हैं तो अभी से आपको रिजर्वेशन करा लेना चाहिए, अन्यथा टिकट मिलना मुश्किल हो जाएगा। नियमित नहीं चलने से हो सकती है मुसीबत: अधिकांश लोगों को यह तक पता नहीं है कि जो ट्रेनें नियमित चला करती थीं। उनमें से अधिकांश को अभी भी रेलवे की ओर से सप्ताह में कुछ दिन ही चलाया जा रहा है। इसमें कोरबा से अमृतसर के बीच चलने वाली छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस भी शामिल है। इस ट्रेन को केवल नियमित किराए व नियमित नंबर से चलाया जा रहा है। जबकि, रोज चलने के स्थान पर सप्ताह में 3 दिन मंगल, बुध व शुक्र को ही चल रही हैं।

5 के बाद शुरू हो जाती है सीटों के लिए मारामारी: एजेंसी
शहर के एक टूर व ट्रेवल्स एजेंसी के अनुसार बड़ी संख्या में लोग फैमिली टूर पर दिसंबर में देश के प्रसिद्ध व दर्शनीय शहरों की यात्रा करते हैं। बीते साल कोविड के कारण लोग निराश हुए थे। इस बार स्थिति काफी बदल गई है और कोविड प्रोटोकॉल भी शिथिल है। कोविड से पहले वर्ष 2019 तक 5 दिसंबर के बाद ट्रेनों में सीट बुकिंग के लिए लोगों की कसरत शुरू हो जाती थी। क्योंकि, सीट रहती थी कम और यात्रियों की संख्या अधिक।

नागपुर व विशाखापट्टमन जाने वालों को राहत
कोरबा से नागपुर या विशाखापट्टनम जाने वालों के लिए अभी ट्रेनों में राहत है। इस रूट पर घूमने की अगर योजना बनी है या बनाने वाले हैं तो यात्री प्लान कर सकते हैं। गाड़ी संख्या 18239 गेवरारोड- इतवारी शिवनाथ एक्सप्रेस व गाड़ी संख्या 18517 कोरबा से विशाखापट्टनम लिंक एक्सप्रेस में 4 दिसंबर के बाद सीट उपलब्ध है। एक सप्ताह के अंदर यात्रा की योजना बना सकते हैं।

जानिए... यहां से चलने वाली ट्रेन में सीट की स्थिति

  • गाड़ी संख्या 22647 कोरबा-कोचुवेली एक्सप्रेस: द्वि-सात्पाहिक गाड़ी है। इसमें 4, 8, 11, 15, 18 दिसंबर तक नो-रूम की स्थिति है। टिकट ले रखे अधिकांश लोग आरएसी व वेटिंग लिस्ट में हैं।
  • गाड़ी संख्या 12252, कोरबा-यशवंतपुर वैनगंगा एक्सप्रेस: यह गाड़ी पूर्व की तरह सप्ताह में दो दिन रवि व शनिवार को चल रही है। इस गाड़ी में 9 दिसंबर तक नो-रूम की स्थिति है। जबकि आगे के दिनों में सीट उपलब्ध है।
  • गाड़ी संख्या 18237, कोरबा-अमृतसर छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस: इस गाड़ी को अभी मंगल, बुध व शुक्र को चलाया जा रहा है। इस गाड़ी में दिल्ली से आगे अमृतसर तक सफर करने के लिए 7 दिसंबर तक सीट नहीं है।
खबरें और भी हैं...