पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लोग लापरवाह, प्रशासन बेबस:लाॅकडाउन- 4 का पहला दिन: छूट मिलते ही नियम भूलकर सब्जी और राशन लेने जुटी भीड़, संक्रमण घर ले जाने की आशंका

काेरबाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुरानी बस्ती मार्ग पर लगी लोगों की भीड़। - Dainik Bhaskar
पुरानी बस्ती मार्ग पर लगी लोगों की भीड़।
  • घूम-घूमकर बेचने की छूट, लेकिन सड़क किनारे ही सजी सब्जी व फल की दुकानें, न कार्रवाई न कोरोना का डर
  • ऐसी लापरवाही पड़ रही भारी: छूट मिलते ही लगाई भीड़, सोशल डिस्टेंसिंग भूले

जिले में काेराेना संक्रमण की रफ्तार थमने का नाम ही नहीं ले रही है। इसे देखते हुए जिला प्रशासन ने जिले में लाॅकडाउन-4 यानी चाैथे चरण में भी सख्त पाबंदिया लगाई है, जाे 17 मई तक लागू रहेगी, लेकिन जिले में चाैथे चरण के लाॅकडाउन के पहले दिन शहर के कई हिस्साें में जाे नजारा देखने काे मिला, वह बिल्कुल भी ठीक नहीं है। कायदे ताेड़कर लाेग शहर में काेराेना काे दावत देते दिखे।

सब्जी खरीदने लाेगाें की भीड़ दिखी, जहां साेशल डिस्टेसिंग भी तार-तार होते दिखा। काेराेना संक्रमण की भयावह स्थिति और राेज संक्रमितों के आंकड़ो काे देखते हुए शासन ने लॉकडाउन आगे बढ़ाने के साथ काेराेना प्राेटाेकाॅल का गंभीरता से पालन करने के निर्देश जारी किए हैं, लेकिन इसके विपरीत हाे रहा है। प्रशासन ने लाेगाें की सहूलियत के लिए काॅलाेनी, गली-मोहल्लाें में सब्जी विक्रेताओं काे घूम-घूमकर वेंडर के जरिए सब्जी बेचने छूट दी है। लाॅकडाउन 4 में इसका समय बढ़ाकर सुबह 7 बजे से दोपहर 3 बजे तक किया, लेकिन नियमों की अनदेखी कर सब्जी और फल विक्रेता सड़काें के किनारे ही बाजार लगा रहे हैं। लाॅकडाउन-4 के पहले दिन यानी गुरुवार काे ताे हद हाे गई। सब्जी बेचने और खरीदने वालाें की एक स्थान पर भीड़ देखकर लग ही नहीं रहा था कि लाॅकडाउन है। ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर काेराेना संक्रमण कैसे थमेगा।

वार्ड 14 में राशन लेने उमड़ी भीड़।
वार्ड 14 में राशन लेने उमड़ी भीड़।

पुरानी बस्ती मार्ग पर सजा सब्जी बाजार यहां पैर रखने नहीं थी जगह मास्क भूले
शहर की पुरानी बस्ती इतवारी बाजार राेड पर रानी धनराज कुंवर गेट के सामने ही बड़ी संख्या में सब्जी दुकानें लगी थी। सुबह से ही यहां कई घंटे तक ठेलाें में सब्जी की दुकाने लगी रही। वहीं आसपास क्षेत्र के लाेग भी बड़ी संख्या में सब्जी लेने के लिए इस जगह जमा हुए थे। यहां भीड़ इतनी अधिक हाे गई थी लाेगाें के आने जाने के लिए जगह कम हाे गई थी। ऐसा लग रहा था मानाें यहां बाजार लगा हाे। लाेग साेशल डिस्टेंसिंग का ख्याल नहीं रखा, ताे कई लाेगाें ने मास्क भी ठीक से नहीं लगाया था।

महापाैर के वार्ड में राशन लेने दुकान के बाहर लगी भीड़, धक्का-मुक्की
काेराेना के दूसरी लहर के दाैरान जिले में चाैथे चरण के लाॅकडाउन के पहले दिन नगर निगम के वार्ड क्रमांक 14 में शासकीय राशन दुकान के बाहर भी लाेग एक साथ अधिक संख्या में राशन लेने के लिए पहुंच गए थे। नगर निगम के महापाैर इसी वार्ड से पार्षद हैं। शासन ने शर्ताें के साथ काेविड प्राेटाेकाल का पालन करते हुए राशन देने का फरमान जारी किया है, लेकिन गुरुवार काे राशन दुकान के बाहर भीड़ उमड़ गई। लाइन में लगे लाेग साेशल डिस्टेंसिंग भी भूल गए थे। राशन लेने धक्कामुक्की की स्थिति रही।

सड़क किनारे दुकान व बस्तियाें के भीतर लग रहा पसरा, लोग लापरवाह
काेराेना संक्रमण काे राेकने व लाेगाें की जरूरत काे ध्यान में रखकर प्रशासन ने सब्जी व फल विक्रेताओं काे तय समय तक घूम-घूमकर सब्जी बेचने निर्देश दिए हैं। सड़क किनारे फल व सब्जी के ठेेले ही नहीं, बल्कि गलियाें में पसरा भी लग रहा है। जिस वीआईपी मार्ग से अधिकारी गुजरते हैं, उसी मार्ग के किनारे सब्जी ठेले और फल दुकानें लग रही हैं। बुधवारी बस्ती में सड़क किनारे ठेले के साथ ही गली में कुल लाेगाें ने ताे पसरा ही लगा लिया था। बुधवारी-निहारिका के बीच भी यही हाल रहा।

ओव्हर ब्रिज के नीचे उमड़ी थी भीड़, नियम भी भूल गए
पावर हाउस राेड पर ओव्हर ब्रिज के नीचे भी सब्जी बाजार लगा था। सुबह यहां सब्जी व फल बेचने वालाें की भीड़ थी। यहां भी खरीदी करने वाले लाेगाें की काफी भीड़ उमड़ी थी और लाेग नियम भूल कर काेराेना काे आमंत्रण देते हुए हुए दिखे। यहां आए दिन इस तरह के नजारे रहते हैं। लेकिन यहा भी गुरुवार को अधिक भीड़ रही।

जरूरी चीजाें के लिए छूट मिली ताे दाेपहर तक सड़क पर आवाजाही बढ़ी
जिले में लाॅकडाउन-4 में प्रशासन ने लाेगाें की सहूलियत के लिए कुछ जरुरी सेवाओं की छूट दी गई है, जाे इससे पहले लाॅकडाउन के दाैरान नहीं थी। ऐसे में लाेग भी बड़ी संख्या में अपने घराें से बाहर आते-जाते दिखे और शहर की सड़काें पर दाेपहर 3 बजे तक पहले से ज्यादा लाेगाें की आवाजाही व चहल-पहल नजर आई। इसमें ऐसे भी लाेग थे, जो बेवजह घर से बाहर निकलकर घूम रहे थे। कई लोग ऐसे भी थे जो बेकार घूम रहे थे।

खबरें और भी हैं...