पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पर्व:उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ पूरा हुआ महापर्व छठ

कोरबा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सुबह 3 बजे से ही पहुंचने लगे थे लोग घाटों पर, दो घंटे तक पानी में खड़े रहे व्रती

पूर्वांचलवासियों में 4 दिन से चली आ रही महापर्व छठ की पूजा अर्चना शनिवार को उगते सूर्य को अर्घ्य देकर पूरी हो गई। छठ घाट दीपक की रोशनी से रोशन होते रहे। सुबह 3 बजे के बाद व्रती और उनके परिजन घाटों पर पहुंचने लगे थे। लगभग 2 घंटे तक पानी के बीच खड़े होकर भुवन भास्कर के उदय होने का इंतजार करते रहे। उदय होते ही छठ अंतिम अर्घ्य देकर व्रतियों ने घर पहुंचकर 36 घंटे से जारी निर्जला व्रत प्रसाद ग्रहण कर पूरा किए। पुरबिया समाज के लोगों में महापर्व छठ का उत्साह शुक्रवार के बाद शनिवार को भी रहा। शुक्रवार की शाम जहां तालाबों, नदी अाैर नालों में डूबते सूर्य को अर्घ्य देकर सुख-समृद्धि की कामना की गई, वहीं शनिवार की भोर से ही घाटों पर पहुंचे छठी मईया के भक्तों ने सूर्योदय की पहली किरण के साथ अर्घ्य दिए। सर्वमंगला मंदिर हसदेव घाट, शिवमंदिर एसईसीएल, मानिकपुर पोखरी और ढेंगुरनाला छठ घाट समेत उपनगरों में लोग उत्साह में आतिशबाजी के बीच जलते दीपक प्रवाहित किए। कोरोना संक्रमण के कारण घाटों पर बीते साल की तुलना में कम लोगों की उपस्थित रही। वहीं शांति पूर्वक लोगों ने घाट पहुंचकर पूजा-अर्चना की। आस्था का यह माहौल उपनगरीय क्षेत्र दर्री, बालकोनगर, कटघोरा, गेवरा-दीपका, पाली, कुसमुंडा व बांकीमोंगरा में भी देखने को मिला। अर्घ्य देने के बाद अपने अपने घर पहुंचकर व्रतियों ने छठ का प्रसाद ग्रहण कर व्रत तोड़ा। पूजा करने वाले परिवार के लोगों ने अपनों के बीच छठ माता को अर्पित प्रसाद बांट कर खुशियां मनाई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले रुके हुए और अटके हुए काम पूरा करने का उत्तम समय है। चतुराई और विवेक से काम लेना स्थितियों को आपके पक्ष में करेगा। साथ ही संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी चिंता का भी निवारण होगा...

और पढ़ें