पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रदेश का 7वां:शहर में मेडिकल कॉलेज अब तक खुला नहीं और प्रभारी डीन नियुक्त, अब तेजी से बढ़ेगी प्रक्रिया

कोरबा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकारी मेडिकल कॉलेज शहर में खुलेगा, आईटी कॉलेज परिसर की 25 एकड़ जमीन हो चुकी हस्तांरित

प्रदेश के 7वां सरकारी मेडिकल कॉलेज शहर में खुलेगा, जहां अगले शैक्षणिक सत्र 2021-22 से पढ़ाई शुरू हो जाएगी। नए मेडिकल कॉलेज के लिए झगरहा स्थित आईटी कॉलेज परिसर का चयन किया गया है, जहां की 25 एकड़ जमीन 6 माह पहले ही जिला प्रशासन ने मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए स्वास्थ्य विभाग को हस्तांतरित कर दी है। वहीं केंद्र से 50 करोड़ रुपए भी आवंटित हो चुका है। हालांकि अब तक आईटी कॉलेज का भवन का अधिग्रहण नहीं हो सका है। इस कारण अभी वहां मेडिकल कॉलेज नहीं खुला है, बल्कि आईटी कॉलेज संचालित है। दूसरी ओर चिकित्सा शिक्षा विभाग ने कोरबा में खुलने वाले मेडिकल कॉलेज के लिए डॉ. वायडी बड़गैंया को प्रभारी डीन नियुक्त किया है। नियुक्ति के साथ ही करीब 4 माह से रुकी मेडिकल कॉलेज खोलने की प्रक्रिया फिर से शुरू हो गई है। प्रभारी डीन ने गुरुवार को कोरबा पहुंच कर मेडिकल कॉलेज के लिए चयनित आईटी कॉलेज परिसर का निरीक्षण किया। उपलब्ध संसाधन और अधोसंरचना की जानकारी लेकर रिपोर्ट बनाई है। इसके आधार पर आगे की प्रक्रिया तेजी से पूरी की जाएगी।

230 करोड़ की लागत, केंद्र का 40 फीसदी फंड
प्रभारी डीन डॉ. वायडी बड़गैया ने बताया कि कोरबा में नए मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए करीब 230 करोड़ की लागत लगेगी। इसमें केंद्र सरकार की ओर से 40 फीसदी और राज्य सरकार द्वारा 60 फीसदी फंड खर्च किया जाएगा। डीएमएफ से राज्य सरकार द्वारा असानी से खर्च वहन किया जाएगा।

पुराना आवेदन रद्द, 30 से पहले फिर भेजा जाएगा
कोरबा मेडिकल कॉलेज के संचालन की अनुमति के लिए पूर्व में चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा दिल्ली भेजा गया आवेदन रद्द हो गया। इसकी वजह मेडिकल काउंसिल आफ इंडिया (एमसीआई) को भंग करके उसके स्थान पर दो माह पहले नेशनल मेडिकल कमीशन बनना है। अब कमीशन को आवेदन भेजा जाएगा। इसके लिए अंतिम तिथि 30 नवंबर है। हालांकि चिकित्सा शिक्षा विभाग इससे पहले आवेदन भेजने की तैयारी में जुटा है। जिसके बाद कमीशन की टीम निरीक्षण करने आएगी। टीम संतुष्ट होने के बाद कॉलेज के लिए मान्यता मिल सकेगी।

जल्द शुरू होगी डॉक्टर-स्टाफ की नियुक्ति
स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक मेडिकल कॉलेज के लिए 100 डॉक्टरों की जरूरत होगी। इसके लिए जिले के सरकारी अस्पतालों में पदस्थ डॉक्टरों की सेवा ली जाएगी। करीब 50 नए डॉक्टरों की विषय के अनुसार नियुक्ति की जाएगी। अन्य स्टाफ भी नियुक्ति किए जाऐंगे। सभवत: दिसंबर के पहले सप्ताह में नियुक्ति के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

नए भवन बनने तक मौजूदा भवन का उपयोग
जिला प्रशासन द्वारा हस्तांरित 25 एकड़ जमीन पर मेडिकल कॉलेज के लिए नया भवन बनाया जाएगा। इसमें करीब 2 से 3 साल का समय लगेगा। तब तक आईटी कॉलेज परिसर के मौजूदा भवन व हॉस्टल का अधिग्रहण करके वहां कक्षाएं लगाई जाएगी। नया भवन बनने के बाद कक्षाएं वहां शिफ्ट हो जाएगी। तब मेडिकल कॉलेज के अन्य प्रयोजन या प्रशासन के अन्य योजना के तहत पुराने भवन का उपयोग किया जाएगा।

जल्द खुलेगा मेडिकल कॉलेज, चल रही प्रकिया: कलेक्टर
कलेक्टर किरण कौशल के मुताबिक आईटी कॉलेज परिसर में जल्द ही नया मेडिकल कॉलेज खुलेगा। इसके लिए प्रक्रिया चल रही है। पहले राउंड की तैयारी हो गई है। चिकित्सा शिक्षा विभाग की जिला स्तर पर जो जरूरतें है वह त्वरित पूरी की जा रही है। हैंडओवर प्रक्रिया भी जल्द पूरी होगी। अगले शैक्षणिक सत्र से मेडिकल की पढ़ाई शुरू हो जाएगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपको कई सुअवसर प्रदान करने वाली हैं। इनका भरपूर सम्मान करें। कहीं पूंजी निवेश करने के लिए सोच रहे हैं तो तुरंत कर दीजिए। भाइयों अथवा निकट संबंधी के साथ कुछ लाभकारी योजना...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser