पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

क्राइम सीरियल देख सीखा तरीका:प्रेमिका के माेबाइल से उसके पिता काे फंसाने भेजा मैसेज, गला घाेंटकर हत्या

कोरबा22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लव मैरिज करने तैयार नहीं थी, ब्रेकअप की बात कहने और दूसरे लड़काें से बातचीत से था गुस्से में

सुबह घर के पीछे बाड़ी में युवती का शव का मिलने। पुलिस की जांच के दाैरान गला घाेंटकर उसकी हत्या किए जाने और मृतका के माेबाइल से भेजा गया प्रेमी व दाेस्त के माेबाइल पर...प्लीज मुझे बचा लाे, मेरा काम हाे गया, आज मेरे पापा मुझकाे जान से मार देंगे...शब्दाें के साथ राेता हुआ इमाेजी संदेश। हत्या के मामले काे ऑनर किलिंग साबित करने और पिता काे फंसाने के लिए पर्याप्त है।

कटघाेरा के तुमान निवासी स्वास्थ्य कर्मी दिगपाल दास गाेस्वामी के साथ शनिवार रात तक ऐसी ही स्थिति थी। उसे उसकी 21 वर्षीय बेटी कृष्णा कुमारी के हत्या के संदेह में कटघोरा थाने में हिरासत में रखा गया था। क्याेंकि हत्या के मामले में प्रारंभिक जांच में सबूत उसके खिलाफ थे। लेकिन कटघाेरा पुलिस और साइबर सेल की गहन जांच-पड़ताल से घटना के 24 घंटे बाद युवती की हत्या का आराेपी प्रेमी तुमान के पुटुवा गांव का संजय चाैहान निकला। जिसने प्रेमिका के भागकर लव मैरिज के लिए तैयार नहीं हाेकर ब्रेकअप की बात कहने और उसके दूसरे लड़काें से बातचीत करने पर शंका से गुस्से में साड़ी से गला घाेंटकर उसकी हत्या की थी।

हत्या की याेजना और मामले में खुद बचते हुए प्रेमिका के पिता काे फंसाने की पूरी साजिश उसने पहले ही रच ली थी। इसके लिए टीवी पर क्राइम सीरियल देखकर तरीका सीखा था। वह पुलिस के पकड़ में न आए इसके लिए उसने अपने खिलाफ न ताे माैके पर और न ही माेबाइल पर काेई सबूत छाेड़ा था। लेकिन गुनाहगार कितनी भी चलाकी कर ले, एक गलती जरूर करता है। ऐसी ही गलती प्रेमी संजय ने की और पकड़ में आ गया। पुलिस ने आराेपी प्रेमी संजय काे हत्या के मामले में गिरफ्तार कर लिया है।

मार डालने दी थी धमकी युवती ने समझ लिया मजाक
संजय क्राइम सीरियल देखकर याेजना बनाकर युवती काे मिलने काे बाेला था। रात 12 बजे वह जंगल में बाइक खड़ी कर आया था। बाड़ी में आकर उसने पत्थर फेंक युवती काे संकेत दिया। युवती उससे मिलने पहुंची ताे उसने साथ भागने काे कहा। युवती तैयार नहीं हुई ताे उसे जान से मारने की बात कही। युवती मजाक समझती रही। संजय ने उसका माेबाइल लेकर उसमें इमाेजी संदेश लिखकर अपने व युवती के दाेस्त कटघाेरा के नेवेंद्र देवांगन के माेबाइल पर भेजा। युवती के माेबाइल पर लिखा मैसेज डिलीट भी कर दिया। युवती संजय काे ब्रेकअप के लिए मनाने बैठी रही। संजय उसके घर में घुसकर साड़ी लेकर आया, जिससे गला घाेंटकर उसकी हत्या कर दी। माेबाइल काे सलवार पर कमर में फंसा दिया।

साड़ी की गांठ खाेलने के चलते पिता डाॅग से घिरे
शनिवार सुबह पुलिस लाइन से घटनास्थल पर डाॅग स्कवाॅड जांच के लिए पहुंचा था। घटनास्थल से सूंघकर छाेड़ने पर वह मृतका युवती के पिता दिगपाल दास के पास पहुंचकर संकेत दिया, क्याेंकि माेबाइल पर इमाेजी मैसेज में पिता के जान से मारने का जिक्र था, इसलिए पुलिस का संदेह गहरा गया, लेकिन जब साइबर सेल के जरिए सुराग मिला ताे प्रेमी हत्या के मामले में पकड़ा गया। पुलिस ने बताया कि सुबह बाड़ी में बेटी का शव देखकर जीवित हाेने की उम्मीद से दिगपाल दास ने गले में बंधा साड़ी का गांठ खाेला था। जिस कारण डाॅग से वह घिरा था। जबकि आराेपी संजय ने घटना के बाद कपड़े बदल लिए थे। इसलिए डाॅग उस तक नहीं पहुंचा।

माेबाइल कभी बंद नही रहा घटना की रात स्विच ऑफ
युवती के हत्या के मामले में पहले ऑनर किलिंग का संदेह और बाद में जांच-पड़ताल के दाैरान प्रेम-प्रसंग की बात सामने आई। तब पुलिस ने प्रेमी संजय के माेबाइल काॅल डिटेल समेत वायस रिकार्डिंग काे खंगाला, जिसमें उसके द्वारा युवती काे अन्य लड़काें से संबंध न रखने और रखने पर जान से मारने की धमकी देना पाया गया। इससे साइबर सेल ने उसके माेबाइल की एक्टिविटी काे खंगाला ताे घटना वाली रात से सुबह तक उसका माेबाइल स्विच ऑफ हाेना पाया गया। जबकि इससे पहले उसका माेबाइल कभी भी बंद नहीं हुआ था। बल्कि देर रात तक युवती से बातचीत हाेती थी। इससे उस पर संदेह हुआ।

मोबाइल रिसीव नहीं करती थी, इसलिए बढ़ा गुस्सा
संजय ने बताया युवती के पिता उसकी शादी अंबिकापुर में करने वाले थे। उसने भागकर लव मैरिज करने काे कहा ताे युवती तैयार नहीं थी। उल्टे ब्रेकअप करने की बात कहती थी। दूसरे लड़काें से बात करती थी, जिससे माेबाइल देर रात तक इंगेज रहता था। काॅल जाने पर भी नहीं उठाती थी। इसलिए उसने गुस्से में हत्या की।

खबरें और भी हैं...